बस्ती में दबंगों ने घर से बाहर फेंका सामान: घर पर कब्जा करने की कोशिश, सीसीटीवी कैमरे तोड़े, घर के लोगों को पीटा

87

सूबे में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। उन्हें न तो पुलिस का भय है और न ही कानून का। ताजा मामला शहर के बैरिहवां का है। यहां एक परिवार पर कुछ मनबढ़ गुरुवार की रात कहर बनकर टूट पड़े। घर कब्जा करने की नीयत से उन्होंने घरेलू सामानों के अलावा सीसीटीवी कैमरे तक तोड़ डाले। इतना ही नहीं घर में मौजूद लोगों को पिटाई कर घर से बाहर निकाल दिया और घर पर कब्जा कर लिया। पीड़ित का कहना है कि इस बाबत जब वह कोतवाली शिकायत लेकर पहुंचा तो कुछ पुलिस कर्मी हंस रहे थे बोले कोतवाल साहब नहीं हैं। काफी इंतजार के बाद जब यहां सुनवाई नहीं हुई तो एसपी आवास पर गए, यहां से फोन जाने के बाद कोतवाल पहुंचे तब जाकर मनबढ़ भागे। पीड़ित मानसिंह चौधरी ने उच्चाधिकारियों को दिए प्रार्थना पत्र में कहा है कि उसने बैनामे के जरिए बैरिहवां भूमि क्रय कर मकान बनाकर पिछले 11 साल से अपने परिवार के साथ रह रहे हैं। उनका कटरा निवासी एक व्यक्ति से भूमि विवाद चल रहा है। बताते हैं वह व्यक्ति और पड़ोस में रहने वाले कुछ अन्य व्यक्ति उनके मकान पर कब्जा करना चाह रहे हैं।


एक व्यक्ति से भूमि विवाद चल रहा है। बताते हैं वह व्यक्ति और पड़ोस में रहने वाले कुछ अन्य व्यक्ति उनके मकान पर कब्जा करना चाह रहे हैं। लूटपाट करने का लगाया आरोप मानसिंह ने बताया कि घर में कब्जा करने की नीयत से गुरुवार की रात में जिस व्यक्ति से भूमि विवाद चल रहा है वह अपने कई साथियों के साथ आया और घर में रखे सामान को निकालकर बाहर फेंकने लगा। जब बेटे राहुल चौधरी व अमित ने माना किया तो गाली देते हुए लोहे की रॉड से मारे पीटे । इतना ही नहीं घर में मौजूद बेटी पूजा ‘ के साथ भी अभद्रता की। घर में रखे कीमती सामान, मोबाइल आदि उठा ले गए।

सेक्स रैकेट को लेकर सुर्खियों में रहा है मकान जिस मकान की कब्जेदारी को लेकर विवाद हुआ है, वह मकान सेक्स रैकेट को लेकर सुर्खियों में रहा है। यहां सेक्स रैकेट संचालित होने की शिकायत पर कई बार पुलिस ने छापेमारी भी की है। पिछले कुछ माह पूर्व यहां हुई छापेमारी में एक युवती भी बरामद हुई थी। देह व्यापार को लेकर जिसके साथ मारपीट की गई थी। सेक्स रैकेट संचालित करने और युवती से मारपीट के आरोप में पीड़ित की पत्नी अभी जेल में है। शहर कोतवाल विनय पाठक ने कहा कि मामला संज्ञान में है। मौके पर घरेलू सामान जो बाहर फेंके गया था उसे अंदर करा दिया गया है। अभी तहरीर नहीं मिली है, तहरीर मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।