किसी मॉडल से कम नहीं UP POLICE की यह महिला DSP

332

यूपी पुलिस में डीएसपी प्रियंका बाजपेयी खूबसूरती के मामले में किसी मॉडल से कम नहीं हैं. हालांकि सिर्फ उनकी फिजिकल ब्यूटी देखना पूरी तरह सही नहीं है. लखनऊ की रहने वाली प्रियंका बाजपेयी पढ़ाई-लिखाई में अव्वल रही हैं. उन्होंने ग्रेजुएशन के बाद लखनऊ विश्वविद्यालय से पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में मास्टर्स किया. जिसमें वह गोल्ड मेडलिस्ट रही थीं. इसके बाद पीएचडी भी किया.

पीसीएस 2017 की टॉपर रहीं

आईएएस-पीसीएस बनने के लिए हजारों लोग तैयारी लगे हुए हैं. यूपीएससी सिविल सर्विस और पीसीएस टॉपर्स की सक्सेस स्टोरीज काफी प्रेरित करती हैं. आज हम आपकी मुलाकात सिविल सर्विस एस्पिरेंट्स के लिए यूपी पीसीएस 2017 की टॉपर रहीं डीएसपी प्रियंका बाजपेई से करा रहे हैं. आइए जानते हैं कि उन्होंने किस तरह यूपी पीएसीएस क्रैक किया था. प्रियंका बाजपेयी पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन में पीजी करते समय सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी भी कर रही थीं. साल 2017 में वह यूपी पीसीएस परीक्षा 6वीं रैंक से पास करके डीएासपी बनी थीं. हालांकि इससे पहले उनका सेलेक्शन एक्साइज इंस्पेक्टर पद पर हो चुका था. उन्होंने 2017 में तीसरे प्रयास में जब यूपी पीसीएस क्रैक किया था तो एक्साइज इंस्पेक्टर पद पर जॉब कर रही थीं.

सोशल मीडिया का सही इस्तेमाल

DSP प्रियंका बाजपेयी इंस्टाग्राम पर काफी सक्रिय हैं. इस प्लेटफॉर्म पर उनके 24000 फॉलोवर हैं. हालांकि प्रियंका एक इंटरव्यू में बताती हैं कि सिविल सर्विस एग्जाम के दौरान करीब दो साल तक सोशल मीडिया से दूर रहीं. दूसरी ओर प्रियंका यह भी मानती हैं कि सोशल मीडिया का सही इस्तेमाल किया जाना चाहिए. सिविल सर्विस एस्पिरेंट्स को टिप्स देते हुए प्रियंका कहती हैं कि सोशल मीडिया का सही इस्तेमाल न किया जाए तो यह समय बर्बाद करता है. प्रियंका सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी करने वालों को एक बैकअप प्लान भी रखने की सलाह देती हैं. उन्होंने खुद सेलेक्शन न होने पर बैकअप प्लान के तौर पर पीएचडी करके प्रोफेसर बनने को सोचा था.

Tags: #upnews #uppolice #policemedianews, #UPPOLICEDSP #priyankavajpayee #uppinnnews