सिद्धार्थनगर: यूपी के कई जिलों से बाइक चोरी कर नेपाल में बेचते थे बदमाश, चोरी की वाहनों के साथ तीन अपराधी गिरफ्तार

143

एसओजी और मोहाना थाना पुलिस की संयुक्त टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। 25 हजार के इनामी बदमाश समेत तीन आरोपितों को पुलिस ने 10 चोरी की बाइकों के साथ गिरफ्तार किया है। वह इनामी बदमाश चोरी की बाइक ले जाते समय कागज न दिखाने पर धराया तो उसी के निशानदेही पर पूरे गिरोह का पर्दाफाश हो गया और तीन आरोपित पकड़े गए।

सिद्धार्थनगर। पुलिस टीम ने बाइक चोरी के एक अन्तर जनपदीय गिरोह को 10 बाइक के साथ अहिरौली मोड़ पर नेउरा कोठी के पास से बुधवार को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए बदमाशों के नाम अजय सिहं पुत्र अम्बिका सिंह निवासी भरथुआ थाना मेंहदावल जनपद संतकबीरनगर, हजरत अली पुत्र नूर मोहम्मद निवासी जमुहवा टोला बनगाई थाना कपिलवस्तु और इन्द्रेश कुमार पुत्र सुभद्र निवासी चुनमुनवा थाना सदर है। अजय पर 25 हजार रुपये का इनाम घोषित था। इनके पास से दो सौ नशीली गोली भी बरामद हुई है। यह जानकारी एसपी अभिषेक कुमार अग्रवाल ने कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में दी।

यह है पूरा मामला

एसपी ने बताया कि पुलिस टीम वाहनों की चेकिंग में जुटी थी। इसी दौरान अहिरौली मोड़ से एक सफेद अपाची सवार को रोका गया तो वह वाहन का कागज नहीं दिखा पाया। कड़ाई से पूछताछ में उसने अपना नाम अजय बताया। पूछताछ में मालूम हुआ कि उसके खिलाफ 25 हजार रुपये का इनाम घोषित है। उसकी निशानदेही पर नेउरा कोठी बाग के पास उसके दो साथी चोरी की नौ बाइक के साथ पुलिस टीम ने पकड़ा।

सिद्धार्थनगर और आसपास के जिलों में करते हैं चोरी

एसपी ने बताया कि पूछताछ में बदमाशों ने स्वीकार किया कि वह लोग सिद्धार्थनगर तथा आसपास के जिलों से बाइक चोरी कर के नेपाल में बेचते हैं। बिक्री से प्राप्त रकम आपस में बांट लेते हैं। अजय सिंह गिरोह का सरगना है जो चोरी करने के लिए घटनास्थल व बाइक चिह्नित करता है। सभी बाइक को बेचने के लिए नेपाल ले जाने की फिराक में थे।

एक आरोपित है बाइक मिस्त्री

एसपी ने बताया कि पकड़ा गया बदमाश इन्द्रेश बाइक मिस्त्री है। यह चुराई हुई बाइक के पुराने खराब पार्ट्स बदलकर नये कर देता था जिससे अच्छी कीमत मिल जाती है।

नेपाल में हजरत की है अच्छी पहचान

पकड़े गए बदमाश हजरत की बजहा चौराहे पर बाल काटने की दुकान है। उसकी नेपाल में अच्छी जान पहचान होने के कारण वह ग्राहक खोजता था। उन्हीं के माध्यम से बाइक बिकती थी।

चार जिलों में अजय पर दर्ज है मुकदमा

गिरोह के सरगना के खिलाफ गोरखपुर जोन के विभिन्न जिलों में कुल 30 आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह नशा करने के लिए अपने पास नशीली दवाओं को रखता है। उसके खिलाफ सिद्धार्थनगर के इटवा, बांसी के अलावा संतकबीरनगर के मेंहदावल, बखिरा, गोरखपुर के कैम्पियरगंज, झंगहा, बेलीपार, सिकरीगंज, खजनी और बस्ती जिले के नगर थाने में चोरी, आर्म्स एक्ट समेत अन्य मामलों में मुकदमे दर्ज हैं। वह जेल भी जा चुका है।

गिरफ्तारी टीम में यह रहे शामिल

गिरफ्तारी टीम में एसओजी प्रभारी शेषनाथ यादव, थाना प्रभारी मोहाना जीवन त्रिपाठी, सर्विलांस सेल प्रभारी सुरेंद्र सिंह, मुख्य आरक्षी राजीव शुक्ला, दिलीप कुमार, आशुतोष धर दूबे समेत अन्य पुलिसकर्मी शामिल रहे।