बिना वीजा भारत में प्रवेश कर रही थी चीनी महिला को रुपईडीहा एसएसबी ने चेकिंग के दौरान दबोचा

408

रुपईडीहा (बहराइच)। भारत-नेपाल सीमा SSB 42 BN की टीम द्वारा नेपाल बार्डर स्थित रूपईडीहा चेक पोस्ट पर चेकिंग की जा रही थी चेकिंग के दौरान एक बौधिष्ट की तरह दिखने वाली महिला जो लाल व पीले रंग का कपड़ा पहने हुई थी उसको पकड़ा गया है।
उसकी पहचान चीन के सांडोंग निवासी ली जिंग मेई के रूप में हुई है।सहायक कमाण्डेन्ट श्री वासुकी नाथ पाण्डेय द्वारा पूछताछ किया गया लेकिन भाषा समझ में नहीं आ रही थी उनके द्वारा थाना रूपईडीहा में मौजूद अभिसूचना ईकाई के अधिकारी (रा, आईबी, एलआईयू, इमीग्रेशन आदि) को सूचित किया गया । ईकाइयाँ उपस्थित आकर चाईनीज महिला से द्विभाषीय के माध्यम से पूछताछ किये पासपोर्ट में भारत देश में रहने का वीजा मौजूद नहीं था।अधिकारियों ने चीनी दूतावास को सूचना दिये बिना वीजा पकड़ी गई चीनी भाषा की महिला के पास से नेपाल का वीजा व दो सिम कार्ड मिले हैं। वहीं पुलिस एसएसबी की तहरीर पर महिला के खिलाफ धारा 14 ए विदेशी अधिनियम के तहत केस दर्ज कर लिया है।बतादे की चीनी महिला 19 नवंबर को काठमांडू आई थी इसके पास नेपाल का 90 दिन का वीजा है। भारत-नेपाल सीमा पर तैनात सशस्त्र सीमा बल के जवान शनिवार की दोपहर प्रतिदिन की भांति जांच पड़ताल कर रहे थे। इसी दौरान नेपाल की ओर से एक महिला ने भारतीय सीमा में प्रवेश किया।
भाषा का ज्ञान न होने से हो रही परेशानी, चीनी दूतावास को दी गई सूचना।बिना वीजा भारत में प्रवेश कर रही चीनी महिला से जानकारी लेने के तमाम प्रयास किए जा रहे हैं, लेकिन महिला हिंदी, अंग्रेजी भाषा में पूछे गए सवालों का जवाब नहीं दे रही है। ऐसे में बॉर्डर के अधिकारियों ने चीनी भाषा की समझ रखने वाले लोगों को बातचीत के लिए बुलाया है। वेशभूषा से महिला बौद्ध परिवेश की लग रही है।चेक पोस्ट पर एसएसबी जवान रानी कुमारी, साधना कुमारी, सहायक उपनिरीक्षक अरूप डोराई ने महिला को रोका था।जांच में पुलिस समेत कई अन्य एजेंसियां शामिल हैं।फर्द के आधार पर मु0अ0सं0 417/2023 धारा 14(a) विदेशी अधिनियम 1946 अंकित करते हुए विवेचना उ0नि0 विजय कुमार द्वारा की जा रही है वा विदेशी महिला को वन स्टाप सेन्टर भेज दिया गया है विधिक कार्यवाही प्रचलित है।