श्रावस्ती: दुर्घटनाओं को आमंत्रण दे रहे मार्ग पर बैठे मवेशी

110

श्रावस्ती। जिले में कोहरे का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। बुधवार को सुबह 11 बजे तक कोहरा छाया रहा। रात में कोहरे की वजह से दृश्यता घटने के कारण कुछ ही दूरी का दृश्य दिखाई नहीं दे रहा था। ऐसे में मार्ग पर बैठे छुट्टा मवेशी व बगैर रिफ्लेक्टर फर्राटा भर रहे वाहनों के कारण दुर्घटना की आशंकाएं प्रबल हो गईं हैं। जिम्मेदार अधिकारियों की अनदेखी वाहन चालकों को भारी पड़ने वाली है।

तराई में कोहरे का प्रकोप बढ़ने लगा है। शाम होते ही कोहरे की वजह से दृश्यता कम हो जाने से दस से पंद्रह मीटर की दूरी पर भी कुछ दिखाई नहीं देता। वहीं, पशुपालन विभाग की ओर से छुट्टा मवेशियों को संरक्षित नहीं किया जा रहा। इतना ही नहीं बलरामपुर व तुलसीपुर चीनी मिल का संचालन भी प्रारंभ हो चुका है। ऐसे में गन्ना तौल केंद्रों पर आने वालीं ज्यादातर ट्रैक्टर ट्रालियां व बैलगाड़ी बौद्ध परिपथ सहित मुख्य मार्ग के किनारे ही खड़े हो रहे हैं। जिनमें रिफ्लेक्टर नहीं लगे होने उनके ठहराव का अंदाजा नहीं हो पाता। इसके चलते दुर्घटना की आशंका हर समय बनी रहती है।

छुट्टा मवेशियों को संरक्षित कराने में नगर पंचायत इकौना व नगर पालिका परिषद भिनगा सहित ग्राम पंचायत बिल्कुल भी गंभीर नहीं हैं। इसका सुपरविजन करने वाले अधिकारी अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ रहे हैं। जिसका प्रमाण पुलिस कार्यालय, विकास भवन व डीएम, एसपी आवास के निकट मुख्य मार्गों पर देखा जा सकता है। जहां अक्सर छुट्टा मवेशी मुख्य मार्ग पर डेरा जमाए रहते हैं।अधिकारी इन्हें देखकर कार्रवाई तो दूर संबंधितों को टोकना भी मुनासिब नहीं समझते।