योगी के नाम एक और उपलब्धि, ‘विकसित भारत संकल्प यात्रा’ में यूपी बना नंबर वन

84

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के विजन को मिशन के रूप में धरातल पर उतार रही योगी सरकार देश में चल रही तमाम योजनाओं में शीर्ष स्थान पर है। इस कड़ी में अब विकसित भारत संकल्प यात्रा का नाम भी जुड़ गया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दिशा-निर्देशन में प्रदेश के सभी ग्राम पंचायतों और नगर निकायों में इस यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। बता दें कि बीते 15 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने झारखंड के खूंटी से विकसित भारत संकल्प यात्रा की शुरुआत की थी। अबतक देशभर में एक करोड़ से अधिक नागरिक इस अभियान से जुड़ चुके हैं। वहीं उत्तर प्रदेश में 37 लाख से अधिक लोग इसमें शामिल हो चुके हैं। ये सिलसिला हर नये दिन के साथ बढ़ता ही जा रहा है।

प्रधानमंत्री ने किया प्रदेश के 10 जनपदों के लाभार्थियों से संवाद

दरअसल, विकसित भारत संकल्प यात्रा सरकार और जनता के बीच संबंधों को मजबूत आधार देने का सशक्त और परिवर्तनकारी अभियान बन चुका है। इसके माध्यम से विभिन्न योजनाओं के लिए ऑन दि स्पॉट रजिस्ट्रेशन, ड्रोन दीदी अभियान के तहत ड्रोन वितरण, शासन की योजनाओं का प्रचार प्रसार खासकर महिला केंद्रित योजनाओं के लिए जागरूकता बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। साथ ही लोगों से आह्वान किया जा रहा है कि वे अपने लाभ के लिए सरकारी योजनाओं का अधिक से अधिक उपयोग करें। इस अभियान में उत्तर प्रदेश के 57709 ग्राम पंचायतों और 777 नगरीय निकायों को शामिल किया गया है। खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को प्रदेश के 10 जिलों के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद किया है। इनमें चंदौली, अमेठी, खीरी, गाजियाबाद, फतेहपुर, लखनऊ, आगरा, जालौन, मीरजापुर और मुजफ्फरनगर शामिल हैं। इन सभी दस जिलों में केंद्रीय और प्रदेश सरकार के मंत्रीगण भी उपस्थित रहे।

जनता के साथ संवाद कायम कर रहे जनप्रतिनिधि

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के भी निर्देश हैं कि विकसित भारत संकल्प यात्रा में स्थानीय स्तर पर अधिक से अधिक नागरिकों की सहभागिता सुनिश्चित करायी जाये। इसके अलावा मंत्रीगण एवं राज्यपाल को भी किसी जनपद में आगमन पर कार्यक्रम में आमंत्रित किया जाये। साथ ही साथ सांसद, विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, नगर पंचायत अध्यक्ष, क्षेत्र पंचायत प्रमुख को विकसित भारत संकल्प यात्रा की कार्य योजना की प्रति उपलब्ध कराई जाए। इसके अलावा युवक मंगल दल, युवती मंगल दल, पीआरडी, होम गार्ड आदि युवा संगठनों के माध्यम से अधिक से अधिक 15-29 वर्ष के युवाओं को “माई युवा भारत” में पंजीकृत कराया जाये। साथ ही नागरिकों को नमो मोबाइल ऐप के सम्बन्ध में जागरूक कर इस ऐप से जोड़ा जाये। इस अभियान के लिए मुख्यमंत्री के निर्देश पर सभी जनपदों में आवंटन के अतिरिक्त मोबाइल वैन की आपूर्ति भी कराई जा रही है, जिन्हें ग्राम पंचायतों में लगाया जा रहा है। अभियान में लगभग पांच सौ वाहनों को लगाया गया है, जो शहरी और ग्रामीण इलाकों में पहुंचकर जनता से संवाद, विभिन्न योजनाओं के लिए ऑन दि स्पॉट रजिस्ट्रेशन और जागरूकता बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं।

सीएम का निर्देश, लेखपाल से लेकर सीएससी प्रतिनिधि तक ही हो दैनिक उपस्थिति

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ओर से इस बात के भी स्पष्ट निर्देश हैं कि प्रत्येक ग्राम पंचायत में आयोजित होने वाले विकसित भारत संकल्प यात्रा के कार्यक्रमों में स्थानीय लेखपाल, कृषि विभाग के कर्मचारी, प्राथमिक विद्यालयों के हेड मास्टर, पंचायत सचिव, आंगनवाड़ी कार्यकत्री, आशा बहुएं, रोजगार सेवक, पंचायत सहायक, समूह सखी, पोस्ट मास्टर और कॉमन सर्विस सेंटर के प्रतिनिधि की दैनिक उपस्थिति को सत्यापित किया जाए।