श्रावस्ती/ धान खरीद: कहीं बोरे उपलब्ध नहीं तो कहीं गोदाम फुल

123

श्रावस्ती/ जिले में धान खरीद शुरू होने के 40 दिन बीत चुके हैं। लेकिन क्रय केंद्रों पर धान की खरीदी रफ्तार नहीं पकड़ सकी है। किसी क्रय केंद्र पर बोरा उपलब्ध नहीं है तो कहीं किसानों से खरीदे गए धान का उठान न होने से धान क्रय केंद्रों के गोदाम भर गए हैं इससे खरीद प्रभावित हो रही है।

किसानों को उनकी उपज का मुनासबि मूल्य दिलाने के लिए समर्थन मूल्य योजना के तहत सरकार की ओर से धान की खरीद की जा रही है। इसके लिए जिले में चार क्रय एजेंसियों के कुल 45 क्रय केन्द्र बनाए गए हैं। इसमें मार्केटिंग के आठ, पूपीएसएस के 14, एफफसीआई का एक व पीसीएफ के 22 क्रय केन्द्र शामिल है। जिले में एक नवम्बर से इन केन्द्रों पर धान की खरीद शुरू हुई थी। 40 दिन बीत चुके हैं लेकिन अव्यवस्थाओं के चलते खरीद की गति बेहद सुस्त है। कहीं किसी केन्द्र पर बोरे उपलब्ध नहीं है तो कहीं किसानों से खरीदे गए धान की उठान न होने से गोदाम फुल है। ऐसे में इन केन्द्रों पर धान की खरीद प्रभावित हो रही है। जिस गति से धान की खरीद हो रही उससे 48 हजार एमटी का लक्ष्य पूरा करने में काफी चुनौती होगी। पड़ताल में क्रय केन्द्रों का हाल धान क्रय केन्द्रों पर धान खरीद की हकीकत जानने के लिए शनिवार को हिन्दुस्तान टीम ने कई क्रय केन्द्रों की पड़ताल की। जिसमें कहीं बोरे उपलब्ध नहीं मिले तो कहीं गोदाम भरा मिला। जिससे खरीद प्रभावित रही। किसान सेवा सहकारी समिति धान क्रय केंद्र इकौना पर बोरा उपलब्ध न होने के कारण धान की खरीद ठप मिली। केंद्र प्रभारी माधवराम पादव ने बताया कि 10 हजार कुंतल खरीद का लक्ष्य दिया गया है। अब तक 4906 कुंतल की खरीद कर ली गई है। गोदान पर बोरा उपलब्ध न होने से खरीद प्रभावित हो रही है। साधन सहकारी समिति गौसपुर धान क्रय केंद्र पर छह हजार कुंतल धान खरीद का लक्ष्य है। लेकिन 40 दिन में यहां केवल 802 कुल्लल धान की खरीद हुई है। मिर्जापुर के पास स्थित धान खरीद केंद्र पर 17 हजार कुंतल लक्ष्य के सापेक्ष शनिवार तक केवल 28 सी कुंतल धान की ही खरीद हो सकी है। धान क्रय केंद्र लक्ष्मनपुर बाजार में लक्ष्य 10 हजार कुंतल धान खरीद का है। अब तक यहां 36 किसानों से 3135 कुंतल धान की खरीद हुई है। यहां बोरा ती उपलब्ध मिला लेकिन उठान न होने से गोदाम धान से भरा पाया गया। गोदाम में जगह नहीं होने से यहां खरीद प्रभावित रही। केंद्र प्रभारी दिनेश कुमार शुक्ला ने बताया कि मंदी में अच्छा भाव मिलने से किसान क्रय केन्द्रों पर कम आ रहे हैं। वह सीचे मंडी में अपना धान बेंच रहे हैं। क्रय केंद्र एकचरणा में शनिवार तक आठ हजार लक्ष्य के सापेक्ष 17 किसानों से 23 सौ कुंतल धान की खरीद हो पाई है। केन्द्र प्रभारी लवकुश शुक्ला ने बताया कि बोरा उपलब्ध है लेकिन किसान कम आ रहे हैं।