बस्ती में सीएचसी पर खांसी की दवा लेने गई महिला व नवजात की मौत

139

बस्ती। रुचीली सीएचसी पर खासी की दवा लेने पहुंची एक गर्भवती की मंगलवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई। चिकित्सक उसकी इलाज शुरू करते इससे पहले ही उसकी मौत हो गई। चिकित्सक ने आपरेशन कर उसके गर्भ में पल रहे बच्चे को बचाने की कोशिश की। हालाकि उसकी भी मौत हो चुकी थी। इस घटना से सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दोनों शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सिद्धार्थनगर जिले के पथरा चाना क्षेत्र स्थित तुरकौलिया निवासी सूरज गौड़ की 23 वर्षीया पत्नी मोनी गौड़ गर्भवती थी। कई दिनों से उसे खासी आ रही थी। मंगलवार को दोपहर बाद तकरीबन 1:30 बजे वह अपनी बहन सुशीला गौड़ के साथ सीएचसी रुधौली में खासी की दवा लेने पहुंची थी। पर्चा बनवाने के बाद चिकित्सक से परामर्श लेने के लिए बैठी थी। अचानक उसकी कमर में दर्द शुरू हो गई। वहां तैनात चिकित्सक्त ने उसे देखा और प्रसठ कक्ष में ले जाने को कहा। प्रसव कक्ष में गर्भवती को ले जाया गया। स्वास्थ्यकर्मी और डॉक्टर जब तक पहुंचे उसकी मौत हो चुकी थी। विज्ञापन उसके गर्भ में पल रहे नवजात को बचाने के लिए चिकित्सक ने तत्काल ऑपरेशन किया लेकिन नवजात को भी नहीं बचाया जा सका। इस बाबत चिकित्साधिकारी डॉ. अमित कन्नौजिया ने बताया कि गर्भवती महिला पहले ही कहीं से लेकर कोई दवा खा ली थी। इस वजह से उसकी तबीयत बिगड़ी और मौत हो गई। पुलिस दोनों शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।