बहराइच: मां ने अपनी नाबालिग बिटिया को एक लाख में बेचा..खरीदार ने बच्ची से कई बार किया रेप,नाबालिग को पुलिस ने किया बरामद, सीडब्लूसी ने एफआईआर दर्ज कर कड़ी कार्रवाई के दिए निर्देश

134

Bahraich News: नाबालिग बिटिया ने बिलखते हुए मजिस्ट्रेट के सामने बताया कि, ‘खरीददार ने उसके साथ एक सप्ताह तक लगातार मारपीट की और रेप किया। उसके चंगुल से किसी तरह बचकर वापस आई, तो मां ने पुन: जबरन उसे सीतापुर भेजने की तैयारी में थी।’

Bahraich News: बहराइच जिले के रामगांव इलाके में एक मां ने ही अपनी नाबालिग बेटी को चंद रुपयों की लालच में बेच दिया। जिले में काम कर रही सामाजिक संस्था ‘देहात’ ने मासूम बिटिया को पुलिस की मदद से बरामद कर सोमवार (18 दिसंबर) को सीडब्लूसी न्याय पीठ के समक्ष पेश किया। इस दौरान सीडब्लूसी के अध्यक्ष ने घटना को गंभीर बताते हुए मां समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

क्या है पूरा मामला?

ये मामला बहराइच के थाना रामगांव के एक गांव की है। यहां रहने वाली एक मां ने ममता को कलंकित किया। उस मां ने पांचवीं क्लास में पढ़ने वाली अपनी सगी बेटी को सीतापुर ले जाकर एक व्यक्ति के हाथों एक लाख रुपए में बेच दिया। बिटिया को खरीदने वाले शख्स ने नाबालिग बच्ची के साथ एक सप्ताह तक लगातार दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। किसी तरह बिटिया उस दुष्कर्मी से बचकर वापस अपने घर लौट आई। लेकिन, जब मां फिर उसे सीतापुर भेजने की फिराक में थी, तो आस-पास के लोगों ने घटना की सूचना सामाजिक संस्था को दी। सूचना पाकर देहात संस्था की कार्यकर्ता अर्चना मिश्रा ने पुलिस की मदद से नाबालिग पीड़िता को उसकी मां के घर से बरामद कर बाल कल्याण समिति की न्यायपीठ के समक्ष पेश किया।

बच्ची ने जुडिशल मजिस्ट्रेट के सामने सुनाई आपबीती

मामले में न्यायपीठ के अध्यक्ष और जुडिशल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी सतीश कुमार श्रीवास्तव तथा न्यायापीठ की सदस्य दीपमाला प्रधान, श्रवण कुमार शुक्ला के समक्ष पीड़िता नाबालिग बिटिया ने बिलखते हुए बताया कि खरीददार ने उसके साथ एक सप्ताह तक लगातार मारपीट की और रेप किया। उसके चंगुल से किसी तरह बचकर वापस आई, तो मां ने पुन: जबरन उसे सीतापुर भेजने की तैयारी में थी। इसी दौरान ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पंहुची पुलिस व महिला समाजिक कार्यकर्ता ने छुड़ाया है।

मां सहित अन्य के खिलाफ लगा POCSO एक्ट

मामले में सुनवाई करते हुए सीडब्लूसी न्यायापीठ के अध्यक्ष श्रीवास्तव ने पीड़िता के बयान के आधार पर घटना को गंभीर बताया। आरोपी मां समेत अन्य लोगों के खिलाफ पाक्सो एक्ट समेत अन्य सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए।

बहराइच। थाना रामगांव के एक गांव निवासी नाबालिग बिटिया को उसी की मां ने सीतापुर ले जाकर एक लाख रुपये में बेच दिया। बिटिया को देहात संस्था ने पुलिस की मदद से बरामद कर सोमवार को बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) न्यायपीठ के समक्ष पेश किया। सीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष ने घटना को गंभीर बताते हुए मां समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

मां ने पवित्र रिश्ते को कलंकित करते हुए कक्षा पांच में पढ़ने वाली अपनी ही सगी नाबालिग बिटिया को सीतापुर ले जाकर एक व्यक्ति के हाथों एक लाख रुपये में बेच दिया। बिटिया को खरीदने वाले व्यक्ति ने नाबालिग के साथ एक सप्ताह तक दुष्कर्म किया। किसी तरह वह आरोपी के चंगुल से बचकर वापस अपने घर लौट आई। मां दोबारा उसे सीतापुर भेजने की फिराक में थी, इस बीच आसपास के लोगों ने घटना की सूचना सामाजिक संस्था को दे दी।

सूचना पाकर देहात संस्था की कार्यकर्ता अर्चना मिश्रा ने पुलिस की मदद से नाबालिग पीड़ित बिटिया को उसकी मां के घर से बरामद कर बाल कल्याण समिति की न्यायपीठ के समक्ष सोमवार को प्रस्तुत किया। मामले में न्यायपीठ के अध्यक्ष व ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी सतीश कुमार श्रीवास्तव व न्यायपीठ की सदस्य दीपमाला प्रधान, श्रवण कुमार शुक्ला ने सुनवाई की। उनके समक्ष पीड़िता नाबालिग बिटिया ने बिलखते हुए बताया कि खरीदार ने उसके साथ एक सप्ताह तक मारपीट और दुष्कर्म किया। उसके चंगुल से किसी तरह बचकर वापस आई, तो मां ने पुन: जबरन उसे सीतापुर भेजने की तैयारी कर ली थी।
इसी दौरान ग्रामीणों की सूचना पर मौके पर पंहुची पुलिस व महिला सामाजिक कार्यकर्ता ने उसे छुड़ाया है। मामले में सुनवाई करते हुए सीडब्ल्यूसी न्यायपीठ के अध्यक्ष श्रीवास्तव ने पीड़िता के बयान के आधार पर घटना को गंभीर बताते हुए मां समेत अन्य लोगों के खिलाफ पाॅक्सो एक्ट समेत अन्य सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

बहराइच के थाना रामगांव के एक गांव निवासी एक नाबलिग बिटिया को उसकी मां ने ही सीतापुर ले जाकर एक लाख में बेच दिया। बिटिया को देहात संस्था ने पुलिस की मदद से बरामद कर सोमवार को सीडब्लूसी न्यायापीठ के समक्ष पेश किया। इस दौरान सीडब्लूसी के अध्यक्ष ने घटना को गंभीर बताते हुए मां समेत अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए है।