उपभोक्ताओं को 100 मिलियन टन कोयला प्रेषण कर एनसीएल ने रचा नया इतिहास

74

*पिछले वर्ष  की तुलना में 15 दिन पहले किया 100 मिलियन टन कोयला प्रेषण*

शुक्रवार को भारत सरकार की मिनिरत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड (एनसीएल) ने चालू वित्त वर्ष में बिजली क्षेत्र सहित अपने उपभोक्ताओं को 100 मिलियन टन कोयला प्रेषण कर नया कीर्तिमान बनाया । वार्षिक लक्ष्य के सापेक्ष 5 % की वृद्धि के साथ  कंपनी ने विगत वर्ष की तुलना में 15 दिन पहले ही, 100 मिलियन टन कोयले के प्रेषण का यह जादुई आंकड़ा छू लिया है।

इसके साथ ही देश की बढ़ती बिजली जरूरतों को पूरा करते हुए कंपनी ने अभी तक 88.87 मिलियन टन कोयला बिजलीघरों को भेजा है।
इसी कड़ी में एनसीएल ने अभी तक 7%  से अधिक की वार्षिक वृद्धि के साथ 98.79 मिलियन टन कोयला उत्पादन एवं 11.60% की भारी वार्षिक वृद्धि के साथ 354.22  मिलियन क्यूबिक मीटर अधिभार हटाया है।

इस शानदार उपलब्धि पर, सीएमडी एनसीएल श्री भोला सिंह व निदेशक (कार्मिक) श्री मनीष कुमार , निदेशक (वित्त) श्री रजनीश नारायण, निदेशक (तकनीकी/संचालन) श्री जितेंद्र मालिक, निदेशक (तकनीकी/परियोजना एवं योजना) श्री एस पी सिंह,  मुख्य सतर्कता अधिकारी श्री रविंद्र प्रसाद (आईटीएस)  ने  टीम एनसीएल को बधाई दी है । सीएमडी श्री भोला सिंह ने कहा कि एनसीएल कर्मियों की  कड़ी मेहनत व प्रबंधन के प्रत्येक चरण पर  समेकित  समन्वय से यह उपलब्धि हासिल हुई है ।  साथ ही उन्होंने  विश्वास जताया कि एनसीएल आगामी समय में लक्ष्य से अधिक कोयला उत्पादन , प्रेषण व अधिभार हटाव के साथ शानदार प्रदर्शन करेगी।

  • वित्तीय वर्ष 2023-24 में, एनसीएल को 135 मिलियन टन कोयला उत्पादन और प्रेषण एवं 450 मिलियन क्यूबिक मीटर अधिभार हटाव  का लक्ष्य सौंपा गया है । वर्तमान प्रदर्शन को देखते हुए उम्मीद है कि कंपनी निर्धारित समय से पहले ही सभी लक्ष्यों को पूरा करेगी।
    *रिपोर्ट – दिनेश शर्मा*