UP: शराब के प्रचार पर वरुण गांधी ने योगी सरकार को लिया आड़े हाथ, पूछा- क्या रामराज्य में राजस्व बढ़ाने के लिए इससे बेहतर विकल्प नहीं

117

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से भाजपा सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने शराब के प्रचार (Promotion of Liquor) को लेकर योगी सरकार को आड़े हाथ लिया है। सांसद ने गुरुवार को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म एक्स पर पोस्ट कर कहा कि करोड़ों परिवार उजाड़ने वाली शराब का ‘राजस्व वृद्धि’ के लिए प्रचार किया जाना दुखद है।

सांसद वरुण गांधी ने आगे कहा कि शराब का नकारात्मक असर शराबी से अधिक उनके परिवार पर पड़ता है, महिलाओं व बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है। क्या ‘रामराज्य’ में सरकार के पास राजस्व बढ़ाने के लिए इससे बेहतर विकल्प नहीं है?

बता दें कि सांसद वरुण गांधी पिछले 2 साल से नीतियों और निर्णयों को लेकर केंद्र व प्रदेश सरकार को असहज करने वाले सवाल उठाते रहे हैं। पिछले साल किसानों के आंदोलन का उन्होंने खुलकर समर्थन किया था। साथ ही लखीमपुर खीरी के निघासन में हुई हिंसा में कई लोगों की मृत्यु के मामले पर किसान संगठनों के साथ ही सांसद ने भी केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी का इस्तीफा और उनके विरुद्ध कार्रवाई के लिए आवाज उठाई थी।

Also Read: UP: विपक्षी सांसदों के निलंबन पर मायावती बोलीं- सभापति का मजाक उड़ाना अनुचित और अशोभनीय

यही नहीं, वरुण गांधी सरकार की आर्थिक नीतियों, निजीकरण, बेरोजगारी और महंगाई की समस्या, प्रतियोगी परीक्षाओं की पवित्रता को लेकर भी वह सरकार को असहज करने वाले सवाल उठाते रहे हैं। वह बैंकों से उद्योगपतियों को आसानी से हजारों करोड़ रुपये के ऋण मिल जाने और सामान्य नागरिकों को अपनी छोटी छोटी जरूरतों के लिए ऋण न मिलने, ऋण मिल जाए तो वसूली के लिए सामान्य नागरिक के विरुद्ध कुर्की की कार्रवाई और उद्योगपतियों को छूट दिए जाने के मामले सांसद कई बार उठा चुके हैं।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )