माह नवंबर में आईजीआरएस/जन शिकायत निस्तारण में प्रदेश में जनपद श्रावस्ती व जनपद श्रावस्ती के समस्त 09 थाने- जोन गोरखपुर के साथ पूरे प्रदेश में अव्वल

77

माह नवंबर में जनपद श्रावस्ती व जनपद के 09 थानों ने आईजीआरएस प्रणाली के अन्तर्गत जन शिकायत निस्तारण में जोन गोरखपुर के साथ पूरे प्रदेश के थानों में प्रथम रैंक प्राप्त किया है। जनपद के सभी थानों की समय-समय पर अधिकारियों द्वारा समीक्षा कर थानो पर आईजीआरएस का कार्य देख रहे कर्मियों को उत्कृष्ट प्रदर्शन करने हेतु प्रोत्साहित किया गया। पुलिस अधीक्षक सुश्री प्राची सिंह के निर्देशानुसार अपर पुलिस अधीक्षक/नोडल अधिकारी श्री प्रवीण कुमार यादव समस्त क्षेत्राधिकारियों के कुशल नेतृत्व में समस्त थाना प्रभारियों द्वारा शिकायतों का गुणवत्तापूर्ण निस्तारण किया गया। जिसके परिणाम स्वरूप कर्मियों की मेहनत और लगन की वजह से जनपद श्रावस्ती का उत्कृष्ट प्रदर्शन हुआ और माह नवंबर में जनपद श्रावस्ती के महिला थाना, थाना इकौना, थाना सिरसिया, थाना को0 भिनगा, थाना सोनवा,थाना गिलौला, नवीन मॉडर्न पुलिस थाना श्रावस्ती ,थाना मल्हीपुर तथा थाना हरदत्त नगर गिरंट की रैंकिग जोन गोरखपुर के साथ प्रदेश में प्रथम स्थान पर रहा।
आपको बता दें, कि उपरोक्त 09 थानों का आईजीआरएस प्रार्थना पत्र निस्तारण में 100% अंक पाकर प्रथम स्थान पर रहे। ये थाने माह नवंबर में प्राप्त प्रार्थना पत्रों का प्राप्त समय सीमा के अंदर निस्तारण कराया गया, कोई भी संदर्भ डिफाल्टर नहीं हुआ और न ही C- श्रेणी गया, सभी संदर्भों की समय से मार्किंग की गई, जनपद में वादी का संतोषजनक फीडबैक का *85.84%* रहा तथा समस्त थानों का वादी का संतोषजनक फीडबैक क्रमशः थाना गिलौला 95% , थाना इकौना 74.07% , थाना सिरसिया 68%, थाना को0 भिनगा 75.44% , थाना सोनवा 71.43%, नवीन मॉडर्न पुलिस थाना श्रावस्ती 62.50%,थाना मल्हीपुर 80.56%, थाना हरदत्त नगर गिरंट 83.33% तथा महिला थाना 100% रहा ।

पुलिस अधीक्षक कार्यालय में स्थापित आईजीआरएस शाखा द्वारा इसकी विधिवत मॉनिटरिंग की गई,आरक्षी अशोक कुमार, आरक्षी उदय प्रताप सिंह द्वारा आईजीआरएस पर प्राप्त सभी प्रकरणों/संदर्भो की मानिटरिंग की गई और समय सीमा के अंदर सभी प्रकरणों का निस्तारण कराया गया।
महिला थाने पर जो भी पारिवारिक विवाद संबंधी प्रार्थना पत्र प्राप्त होते हैं प्रभारी निरीक्षक द्वारा दोनों पक्षों की काउंसलिंग कर उनका समय सीमा के अंदर निस्तारण कराया जा रहा है,तथा अन्य थाना पर भूमि विवाद से संबंधित जो भी प्रार्थना पत्र प्राप्त होते है उन्हे राजस्व व पुलिस की संयुक्त टीम के साथ समय सीमा के अंदर निस्तारण कराया जा रहा है।
पुलिस अधीक्षक द्वारा IGRS में कार्य कर रहे सभी पुलिसकर्मियों की सराहना की गयी गई।