Ramotsav 2024: ‘स्टेट ऑफ द आर्ट’ फैसिलिटी से लैस ‘अयोध्या धाम’ है कई मायनों में खास

518

अयोध्या: उत्तर प्रदेश की आर्थिक उन्नति का मार्ग प्रशस्त करने के साथ ही प्रदेश की आध्यात्मिक मूल्यों के संरक्षण के लिए संकल्पबद्ध योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार रामनगरी अयोध्या को नव्य-भव्य रूप में सजाने की कोई कसर नहीं छोड़ रही है। श्रीराम जन्मभूमि मंदिर के दर्शन करने विश्व भर से आने वाले श्रद्धालुओं को वर्ल्ड क्लास फैसिलिटीज का सुखद अनुभव कराने की दिशा में पीएम मोदी का विजन और सीएम योगी का त्वरित क्रियान्वयन रंग लाने लगा है। वर्षों से विकास की राह ताकती अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम इंटरनेशनल एयरपोर्ट के साथ ही अब अयोध्या धाम के रूप में ‘स्टेट ऑफ द आर्ट’ फैसिलिटीज से लैस अत्याधुनिक रेलवे स्टेशन लोकार्पण के लिए तैयार है।

यूं तो, इस स्टेशन का तीन फेज में विस्तृत विकास होना है, मगर पहले फेज के विकास कार्यों को लोकार्पण के पूर्व पूरी तरह से पूर्ण कर लिया गया है। खास बात यह है कि इस स्टेशन को ऐसे सुव्यवस्थित तरीके से विकसित किया गया है कि यहां की सुविधाओं के आगे एयरपोर्ट भी फीका पड़ जाए। यहां इनफेंट केयर, सिक रूम, टूरिस्ट इनफॉर्मेशन सेंटर, फायर एग्जिट समेत देश के सबसे बड़े कॉनकोर्स सेटअप को भी पूर्ण किया जा रहा है।

‘मील का पत्थर’ साबित होंगी ये सुविधाएं
अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन में यूं तो तमाम खूबियां हैं मगर यहां कुछ सुविधाएं ऐसी हैं जो रेलवे स्टेशन तो क्या आमतौर पर एयरपोर्ट्स पर भी देखने को नहीं मिलतीं। इस फेहरिस्त में सबसे आगे है इनफेंट केयर रूम जहां पर पैसेंजर्स के दुधमुंहे बच्चों को भी मेडिकल अटेंशन मिल सकेगा। इसी प्रकार, किसी पैसेंजर को यात्रा के दौरान अगर चोट लग जाती है या फिर किसी प्रकार की अस्वस्थता की स्थिति का सामना करना पड़ता है तो इसके लिए भी स्टेशन पर सिक रूम में फर्स्ट एड व मेडिकल अटेंशन की सुविधा होगी। वहीं, पैसेंजर फैसिलिटीज डेस्क और टूरिस्ट इनफॉर्मेशन सेंटर के माध्यम से यहां आने वाले पैसेंजर्स को श्रीराम मंदिर समेत क्षेत्र के सभी आध्यात्मिक व पर्यटन स्थलों की जानकारी व इन तक सुलभ पहुंच के साधनों के बारे में जानकारी मिल सकेगी। ये सभी सुविधाएं ग्राउंड फ्लोर पर अवस्थित हैं तथा पूरा कॉम्प्लेक्स जी प्लस टू मॉडल (ग्राउंड प्लस मिडिल व फर्स्ट फ्लोर) पर बना है। इसके अतिरिक्त, क्लोक रूम, फूड प्लाजा, वेटिंग हॉल्स, स्टेयरकेस, एस्केलेटर्स, लिफ्ट व टॉयलेट्स समेत वो तमाम सुविधाएं भी उपलब्ध रहेंगी जो आमतौर पर सभी नव विकसित स्टेशनों पर होती हैं। सभी फ्लोर्स फायर एग्जिट से भी कनेक्टेड हैं जिससे किसी अप्रिय स्थिति में लोगों की सुरक्षित निकासी का मार्ग प्रशस्त होगा।

मिडिल फ्लोर पर डॉर्मेटरी तो फर्स्ट फ्लोर पर होगा कॉनकोर्स
अयोध्या धाम स्टेशन के मिडिल फ्लोर पर रिटायरिंग रूम्स, लेडीज डॉर्मेटरी, एसी रिटायरिंग रूम्स, जेंट्स डॉर्मेटरी, स्टेयरकेस, रिलीविंग स्टाफ के लिए लॉजिंग रूम, स्टेशन मास्टर व महिला कर्मचारियों का कक्ष बनाया गया है। वहीं, फर्स्ट फ्लोर पर देश के सबसे बड़े कॉनकोर्स सेटअप को स्थापित किया जा रहा है। यह प्रक्रिया 3 फेज में पूरी होनी है और पहले फेज का कार्य पूर्ण हो चुका है। तीनों फेज का विकास पूर्ण होने पर यह कॉनकोर्स 7200 स्क्वेयर मीटर में फैला होगा। इसके अतिरिक्त, फर्स्ट फ्लोर पर फूड प्लाजा, वेटिंग हाल, टॉयलेट, पेयजल, एस्केलेटर्स, लिफ्ट, कर्मचारी कक्ष, दुकानें, वेटिंग रूम समेत प्रवेश पैदल पुल की सुविधाएं उपलब्ध होंगीं। इसके साथ ही, दिव्यांगों के लिए विशिष्ट प्रकार के शौचालयों का भी निर्माण किया गया है।