वर्ष-2023 में श्रावस्ती पुलिस अपराधियों पर पड़ी भारी, 10 पुलिस मुठभेड़ सहित विभिन्न अपराधों में कई पुरूस्कार घोषित तथा सैकड़ों अपराधी भेजे गये जेल, आगामी वर्ष के लिए भी किया गया रोड मैप तैयार

89

श्रावस्ती। सुश्री प्राची सिंह ने जनपद के पुलिस अधीक्षक का कार्यभार जनवरी-2023 में ग्रहण किया था । कार्यभार ग्रहण करने के पश्चात सुश्री प्राची सिंह ने अपनी सर्वोच्च प्राथमिकता को अपराध नियंत्रण एवं अपराधियों पर कड़ी कार्यवाही को बताया था । जिसको फलीभूत करने के लिये पुलिस अधीक्षक ने जनपद के समस्त राजपत्रित/अराजपत्रित पुलिस अधिकारियों के साथ गोष्ठी कर अपने उद्देश्य से अवगत कराते हुए अपराधियों पर कड़ी कार्यवाही करने के निर्देश जारी किये थे । जिसके लिये पुलिस अधीक्षक ने समय-समय पर ऑपरेशन धर-पकड़ जैसे विभिन्न अभियानों का संचालन भी किया । अपराध नियंत्रण एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे इन अभियानों में पुलिस अधीक्षक द्वारा समय-समय पर जनपदीय पुलिस का मार्ग-दर्शन भी किया गया । पुलिस अधीक्षक द्वारा किये गये निर्देशन एवं मार्ग-दर्शन के फलस्वरूप श्रावस्ती पुलिस ने अपराध नियंत्रण पर कठोर कार्यवाही करते हुए विभिन्न मुकदमों में वांछित/पुरस्कार घोषित अपराधियों/वारंटियों एवं पुलिस मुठभेड़ में सैकड़ो अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजने में सफलता प्राप्त की ।इस वर्ष को0 भिनगा पुलिस तथा एसओजी/सर्विलांस टीम द्वारा किये गये अथक प्रयास के पश्चात् हत्या व लूट में वांछित पिछले 12 वर्षो से फरार 50-50 हजार के 02 शातिर अपराधियों सहित कुल 12 पुरूस्कार घोषित अपराधियों को गिरफ्तार करनें में सफलता प्राप्त की । गिरफ्तारी के दौरान शातिर अपराधियों से हुयी 10 पुलिस मुठभेड़ो में कुल 18 शातिर अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा । गौकशी जैसी घटनाओं पर सतर्क दृष्टि रखते हुये गौकशी में लिप्त कुल 25 अपराधियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया । अपराधियों पर प्रभावी नियन्त्रण के लिए जनपदीय पुलिस द्वारा 46 अपराधियों के विरूद्ध गैंगेस्टर एक्ट तथा 61 अपराधियों के विरूद्ध गुण्डा अधिनियम में कार्यवाही की गयी। अवैध शस्त्र के निर्माण,परिवहन तथा बिक्री से सम्बन्धित अपराधियों के विरूद्ध की गयी कार्यवाही के अन्तर्गत कुल 03 अवैध शस्त्र फैक्ट्रियों सहित 52 अवैध तमंचे, 04 सिंगल बैरल बन्दूक, 143 अवैध चाकू एवं 56 कारतूस को बरामद कर कुल 184 अभियोग पंजीकृत करते हुए 192 व्यक्तियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया । पुलिस अधीक्षक द्वारा संचालित ऑपरेशन धरपकड़ अभियान के अन्तर्गत माह जनवरी से अब तक जनपदीय पुलिस द्वारा की गयी प्रभावी कार्यवाही में कुल 693 वारंटियों की गिरफ्तार कर जेल भेजा गया । गुमशुदा/अपरह्ता की बरामदगी के लिये चलाये गये अभियान ऑपरेशन चिराग के अन्तर्गत विभिन्न थाना क्षेत्रो से माह जनवरी से अब तक 93 बच्चों को रेस्क्यू कर उनके परिजनों को सकुशल सुपुर्द किया गया । थाना ए0एच0टी0यू0 द्वारा इस वर्ष कुल 34 बच्चों को बालश्रम से मुक्त कराया गया तथा कुल 13 बाल विवाह रुकवाये गये साइबर अपराध के अन्तर्गत साइबर सेल द्वारा कार्यवाही करते हुये 04 करोड़ की ठगी से सम्बन्धित 02 अपराधियों को जेल भेजा गया तथा विभिन्न साइबर अपराधों ऑनलाइन ठगी के शिकार व्यक्तियों के 4,86,200/- रूपये की धनराशि को वापस कराया गया । साइबर सेल द्वारा जनपद में लगभग 450 विभिन्न स्थानों पर कार्यक्रम आयोजित कर आमजन को साइबर फ्राड के बारे में जागरूक किया गया । साइबर अपराध एवं अपराधियों पर प्रभावी नियन्त्रण हेतु साइबर अपराध थाना भी स्थापित किया गया । इसी प्रकार सर्विलांस सेल द्वारा लगभग 50 लाख की कीमत के कुल 300 मोबाइल फोन को बरामद कर मोबाइल स्वामियों को सुपुर्द किया गया ।शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता ऑपरेशन कन्विक्शन के तहत जनपद में सनसनी खेज अपराध/दुष्कर्म व पॉक्सो, हत्या सहित अन्य अपराधों से सम्बन्धित कुल 204 अभियोगो में नामित अभियुक्तों को माननीय न्यायालय द्वारा सजा व अर्थदण्ड से दण्डित किया गया, जिसमें मृत्यु दण्ड में 01 तथा आजीवन कारावास में कुल 09 अभियुक्तों को सजा हुयी इसके अतिरिक्त 05 वर्ष या 05 वर्ष से अधिक अवधि की सजा के कुल 26 प्रकरण शामिल हैं ।माननीय मुख्यमंत्री उ0प्र0 शासन की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में से एक मिशन शक्ति(शक्ति दीदी )अभियान के अन्तर्गत महिला सशक्तीकरण/साइबर जागरूकता हेतु पुलिस द्वारा जनपद के समस्त थाना के विभिन्न गाँवों तथा विद्यालयों में चौपाल लगाकर महिलाओ/बच्चों को जागरूक किया गया । बालिकाओं को आत्मरक्षा के गुर सिखाये गये व 06 से 08 वर्ष के बच्चों को गुड/बैड टच के बारे में जानकारी दी गयी । शासन स्तर से चलाये जा रहे अभियान ऑपरेशन सुदर्शन के अन्तर्गत पुलिस अधीक्षक द्वारा व्यक्तिगत चौपाल लगाकर नशा विरोधी अभियान को संचालित करते हुये जनपदीय पुलिस को इस अभियान को व्यापक स्तर पर चलाने हेतु प्रेरित किया ।
इस वर्ष अपर पुलिस महानिदेशक गोरखपुर जोन द्वारा कानून व्यवस्था के सुदृढ़ीकरण के दृष्टिगत विभिन्न अभियानों को संचालित किया गया । जिसमें पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में जनपदीय पुलिस द्वारा प्रभावी कार्यवाही की गयी । ऑपरेशन त्रिनेत्र के अन्तर्गत व्यापारी/सम्भ्रान्त व्यक्तियों के सहयोग से विभिन्न थाना क्षेत्रों मे कुल 5615 कैमरे लगवाये गये । ऑपरेशन कवच के अन्तर्गत शासन द्वारा चलाये जा रहे इस अभियान में एएचटीयू पुलिस तथा स्थानीय अभिसूचना इकाई की संयुक्त टीम द्वारा जनपद में नेपाल बॉर्डर से सटे थाना मल्हीपुर व थाना सिरसिया के कुल 72 गाँवों का भौतिक सत्यापन किया जा चुका है जिसके अन्तर्गत महिला/भूमि सम्बन्धी अपराधों मे भारी गिरावट आयी है ।ऑपरेशन क्लीन के अन्तर्गत मोटर वाहन अभिनियम से सम्बन्धित लम्बे समय से विभिन्न थानों पर खड़े वाहनों को उनके स्वामी की तलाश कर आवश्यक विधिक कार्यवाही करते हुये उन्हे सुपुर्द करने एवं 305 लावारिस वाहनों/माल मुकदमाती की नीलामी करने की प्रकिया प्रचलित है ऑपरेशन ब्रह्मास्त्र के अन्तर्गत जनपद के 207 हिस्ट्रीशीटरों की चेकिंग करते हुये उनकी अपराधिक गतिविधियों पर सतर्क दृष्टि रखने के लिए उनके लोकेशन शेयर किये जाने का सहमति पत्र प्राप्त किया ।शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता जनसुनवाई वर्ष 2023 में प्रदेश मे IGRS प्रणाली के तहत जनपद शिकायत निस्तारण में जनपद ने क्रमशः माह मार्च ,जून,अगस्त, नवम्बर की रैकिंग में प्रदेश में प्रथम स्थान प्राप्त किया तथा महिला सम्बन्धी अपराधों के निस्तारण में ITSSO पोर्टल द्वारा जारी रैकिंग में माह फरवरी में द्वितीय स्थान एवं माह जून तथा जुलाई में डिस्पोजल व कम्प्लायंस रेट में जनपद श्रावस्ती टॉप टेन जिलों की सूची मे रहा । इसके अलावा NCRB के NAFIS पोर्टल में गिरफ्तार/सजायाफ्ता अभियुक्तों के अंगुष्ठ छाप की कार्यवाही में गोरखपुर जोन में जनपद श्रावस्ती ने प्रथम स्थान प्राप्त किया ।यातायात पुलिस व जनपदीय पुलिस द्वारा 03 सवारी, सीटबेल्ट, डग्गामार वाहनों,अवैध रिक्शा तथा अन्य यातायात नियमों के उल्लंघन के विरूद्ध कार्यवाही करते हुये कुल 26,056 ई-चालान कर 4,58,32,100/- का शमन शुल्क अधिरोपित किया गया । इसके अतिरिक्त जनपद में दुर्घटना बाहुल्य क्षेत्रों (ब्लैक स्पॉट)/संवेदनशील स्थानों का चिन्हांकन कर रेडियम रिफ्लेक्टर व सूचना बोर्डों को लगवाने की कार्यवाही की गयी । जनपद के विभिन्न स्कूल/कॉलेज/सार्वजनिक स्थानों पर चौपाल लगाकर विद्यार्थियों व आमजनमानस को यातायात नियमों के प्रति जागरूक किया गया साथ ही साथ दोपहिया वाहनों को दुर्घटनाओं से बचाने के लिए समय-समय पर हेल्मेट भी वितरित किये गये । अपराध नियन्त्रण हेतु नेपाल बॉर्डर से सटे हुये थाना क्षेत्रो में प्रतिदिन सीमा सुरक्षा बल के साथ बेहतर समन्वयन बनाते हुये संयुक्त रूप से पैदल गस्त की कार्यवाही की जा रही है ।उपरोक्त कार्यवाहियों के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा स्वयं तथा निर्देश पर जनपदीय पुलिस द्वारा समय-समय पर मानवीय कार्य करते हुये असहाय एवं असक्त लोगों के बीच विशेषकर होली और दीपावली जैसे त्योहारों पर जाकर उनके दर्द बाटते हुए आवश्यक वस्तुएं एवं मिष्ठान,वृद्धाश्रम में जाकर निराश्रितों को कम्बल आदि वितरित किये गये। साथ ही पुलिस अधीक्षक द्वारा आम जनमानस का पुलिस से बेहतर समन्वय बनाने रखने के लिए जनसहयोग से थाना हरदत्त नगर गिरण्ट, चौकी बन्ठिहवा, कोतवाली भिनगा का विवेचना कक्ष तथा क्षेत्राधिकारी जमुनहा कार्यालय का निर्माण कराया गया तथा पुलिस कर्मियों तथा उनके परिवारीजनों की सुविधा तथा मनोरंजन का ध्यान रखते हुए पुलिस कैफे, बैडमिंटन कोर्ट, अतिथि गृह, शार्ट फायरिंग रेंज का निर्माण कराया एवं चिल्ड्रेन पार्क, जिम हॉल, पुलिस क्लब, पुलिस कार्यालय सभागार, कम्पोजिट कन्ट्रोल रूम का जीर्णोद्धार कराया। पुलिस अधीक्षक के प्रयासों से वर्तमान समय में पुलिस लाइन में आरक्षियों के लिए बैरिक एवं परेड ग्राउण्ड पर स्टेडियम निर्माणाधीन है। पुलिस अधीक्षक के कुशल निर्देशन तथा प्रभावी पैरवी के फलस्वरूप थाना गिलौला क्षेत्रान्तर्गत नाबालिग से दुष्कर्ष एवं हत्या की सनसनीखेज घटना के आरोपी को अल्प समय में ही दिनांक 17.10.2023 को मृत्युदण्ड की सजा दी गयी । इस सराहनीय कार्य के लिए पुलिस महानिदेशक उ0प्र0 द्वारा विशिष्ट प्रशस्ति पत्र प्रदान किया गया । इसके अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक द्वारा किये गये सराहनीय कार्यो के लिए पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश शासन द्वारा सर्वश्रेष्ठ कार्यप्रदर्शन हेतु प्रशंसा पत्र व शौर्य का स्वर्ण पदक चिन्ह् प्रदान किया गया ।


इस वर्ष अपराध नियन्त्रण हेतु की गयी उपरोक्त कार्यवाही के अतिरिक्त आगामी वर्ष 2024 के लिए भी पुलिस अधीक्षक द्वारा अपराधियों के विरूद्ध और अधिक प्रभावी कार्यवाही करने के लिए रोड़ मैप तैयार किया गया है । जिसमें छोटे से छोटे अपराधों का भी पंजीयन करने तथा समयबद्ध वांछित/वारंटियों की गिरफ्तारी करने तथा लम्बे समय से फरार चल रहे पुरूस्कार घोषित अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु टीम बनाकर कार्यवाही करने तथा उसमें सर्विलांस टीम की सहभागिता बढ़ाने, निरोधात्मक कार्यवाही जैसे एनएसए, गैगस्टर तथा गुण्डा एक्ट में अधिकतम कार्यवाही करने, शासन तथा पुलिस महानिदेशक महोदय की प्राथमिकता ऑपरेशन कन्विक्शन के तहत चिन्हित किये गये अभियोगों में सजा कराने हेतु प्रभावी पैरवी पर जोर देने,ऑपरेशन त्रिनेत्र के अन्तर्गत चिन्हित स्थानों पर अधिक से अधिक कैमरे स्थापित किये जाने, सड़क सुरक्षा व यातायात नियमों के अनुपालन कराने विशेषकर डग्गामार वाहनों पर प्रभावी कार्यवाही करने, अवैध कटान/खनन की रोकथाम हेतु वन विभाग तथा खनिज विभाग से सामन्जस्य स्थापित कर टीम बनाकर कार्यवाही करने, सीमावर्ती क्षेत्र मे बनने वाले नये अवैध धार्मिक स्थलों के निर्माण पर प्रभावी रोकथाम करने,मिशन शक्ति दीदी अभियान के अन्तर्गत महिला सुरक्षा को शीर्ष प्राथमिकता देते हुये उन्हे जागरूक करने तथा मानव तस्करी, बाल विवाह एवं बाल श्रम की रोकथाम हेतु एएचटीयू टीम को और प्रभावी बनाने आदि प्रमुख कार्यवाही किया जाना है ।