एंटी करप्शन ब्यूरो टीम के गठन का दिख रहा असर, बस्ती में रिश्वत लेते अब तक 6 कर्मचारी गिरफ्तार

107

यूपी में भ्रष्टाचार निवारण के लिए राज्य के 18 मंडलों में एंटी करप्शन थाने बनाए गए थे जिसका असर अब धरातल पर नजर आ रहा है. बस्ती जिले में भी रिश्वत लेते कर्मचारी गिरफ्तार हुए हैं.

Basti Crime News: रिश्वत के चक्कर में मंडल के पांच सरकारी कर्मी जेल की हवा खा रहे हैं. रिश्वत मांगने वाले घूसखोर कर्मचारियों पर सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) का हंटर जारी है. प्रदेश सरकार द्वारा गठित टीम का असर भी अब साफ देखने को मिल रहा है. बस्ती (Basti) मंडल में दो वर्षों में एंटी करप्शन टीम के हत्थे कुल 6 सरकारी कर्मी रिश्वत (Bribe) मागंते रंगे हाथ धरे गए जहां एक तो जमानत पर बाहर भी है लेकिन पांच कर्मचारी अभी भी जेल की हवा खा रहे हैं. इतना होने के बाद भी सरकारी कर्मी जेल की हवा खा रहे रिश्वतखोरों से सीख नहीं ले रहे हैं. उन्हें अपनी गलती का एहसास तब होता है जब वे एंटी करप्शन टीम के हत्थे चढ़ जाते हैं.

सीएम योगी की जीरो टॉलरेंस नीति के तहत लगभग दो वर्ष पहले पुलिस लाइन परिसर में एंटी करप्शन थाने का शुभारंभ हुआ. मकसद साफ था कि सरकारी दफ्तरों में कार्यरत अधिकारी और कर्मचारियों की रिश्वतखोरी पर लगाम लगाना. सरकार की यह नीति काफी हद तक कारगर भी साबित हो रही है.

कोई 50 हजार तो कोई 20 हजार लेता गिरफ्तार
एंटी करप्शन थाने को मार्च 2023 में पहला केस मिला, जिसके तहत टीम ने संतकबीरनगर के राजस्व लेखपाल अश्विनी कुमार मिश्रा को 50 हजार रुपये रिश्वत लेते मेंहदावल तहसील के पास स्थित एक चाय की दुकान के पास से रंगे हाथ गिरफ्तार किया था. जहां जमीन के बंटवारे की फाइल में रिपोर्ट लगाने के नाम पर 50 हजार रुपये रिश्वत लेते टीम ने धर दबोचा था. दूसरा मामला अप्रैल 2023 में बस्ती में ही मिला, यहां सदर तहसील में तैनात महिला लेखपाल मुदिता श्रीवास्तव को 20 हजार रुपये घूस लेने के आरोप में एंटी करप्शन टीम ने गिरफ्तार किया था. अगस्त 2023 में बस्ती चकबंदी कार्यालय में तैनात कनिष्ठ लिपिक अजीजुर्रहमान वसीयत के लिए एक व्यक्ति से आठ हजार रूपए रिश्वत मांगे थे, जिन्हें टीम ने रंगे हाथ गिरफ्तार किया था.

इन कर्मचारियों की अब तक हुई है गिरफ्तारी
अक्टूबर 2023 में तहसील बासी के अंतर्गत एक शिकायतकर्ता से लेखपाल राहुल ने खतौनी में आवेदक के पिता का नाम त्रुटि के कारण छूट जाने से उसे दर्ज करने के नाम पर पांच हजार रुपये घूस मांगे थे, दिसंबर 2023 में जमीन की पैमाइश के लिए हर्रैया तहसील में तैनात राजस्व निरीक्षक अनिल कुमार श्रीवास्तव को एंटी करप्शन टीम ने 10 हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार कर लिया था. जनवरी 2024 में संतकबीरनगर में चकबंदी मुकेश कुमार यादव को एंटी करप्शन टीम ने 20 हजार रुपये घूस लेते गिरफ्तार किया था.

इस टोल फ्री नंबर पर की जानी है शिकायत
एंटी करप्शन टीम के प्रभारी सुखबीर भदोरिया ने बताया कि शिकायत मिलने पर इस तरह की कार्रवाई की जाती है. वहीं अब तक मंडल से 6 लोगों को टीम ने ट्रैप कर गिरफ्तार किया है उन्होंने बताया कि जो भी व्यक्ति दिए टोल फ्री नंबर 9454402891 मोबाइल नंबर पर शिकायत करता है तो शिकायत का निस्तारण टीम द्वारा किया तत्काल किया जाएगा.

विज्ञापन बॉक्स