मुस्लिम छात्राओं ने लगाई ‘राम नाम की मेहंदी’ तो भड़की जमीयत उलमा, थाने पहुंच गया मामला

117

बुर्के में मुस्लिम लड़कियों के कैटवॉक के बाद अब मेहंदी लगवाने पर विवाद खड़ा हो गया है।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फनगर (Muzaffarngar) जनपद के श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेज (Shriram Group of College) में बुर्के में मुस्लिम लड़कियों के कैटवॉक के बाद अब मेहंदी लगवाने पर विवाद खड़ा हो गया है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो में हाथों में मेहंदी से श्रीराम (Shri Ram Mehndi) लिखवाती श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेज की छात्राओं को मुस्लिम बताते हुए जमीयत उलमा के पदाधिकारियों ने पुलिस से शिकायत की है।

एसपी सिटी से मिला प्रतिनिधिमंडल

जमीयत उलमा के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि इससे धार्मिक भावनाओं को आहत किया है। जमीयत पदाधिकारियों ने इस मामले में पुलिस से कार्रवाई की मांग की है। सूत्रों ने बताया कि गुरुवार को जमीयत उलमा जिला मुजफ्फरनगर के प्रतिनिधिमंडल ने एसपी सिटी सत्यनारायण प्रजापत से मुलाकात कर शिकायती पत्र सौंपा।

इस दौरान जिला संयोजक मौलाना मुकर्रम अली ने आरोप लगाया कि श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेज आए दिन ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन करा रहा है, जिससे मुस्लिम भावनाओं को ठेस पहुंचती है। प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि कुछ दिन पूर्व बुर्के में लड़कियों से फैशन शो कराया गया था। इससे मुस्लिम समाज के लोगों की भावनाएं आहत हुई।

Also Read: Ram Mandir: गर्भगृह में स्थापित प्रभु श्रीराम की दिव्य मूर्ति की पहली तस्वीर आई सामने

अब इंटरनेट मीडिया पर प्रसारित हो रहे वीडियो से उन्हें ज्ञात हुआ कि श्रीराम ग्रुप ऑफ कॉलेज में मेहंदी प्रतियोगिता में मुस्लिम छात्राओं के हाथों पर श्रीराम लिखवाया। उन्होंने कहा कि यह कार्य मुस्लिम समाज की धार्मिक भावनाओं को आहत करता है। इसलिए उक्त प्रकरण की जांच कराकर कार्रवाई कराई जाए। एसपी सिटी सत्यनारायण प्रजापत ने मामले की जांच का आश्वासन दिया।

वहीं, इस मामले में पत्रकारिता जनसंचार विभाग के विभागाध्यक्ष रवि गौतम ने बताया कि मेहंदी प्रतियोगिता का आयोजन बुधवार को कॉलेज में हुआ था। उसमें मुस्लिम लड़कियों के हाथों पर श्रीराम नहीं लिखवाया गया और न ही श्रीराम का चित्र बनवाया गया। जितनी भी छात्राओं ने अपने हाथ पर मेहंदी से श्रीराम लिखा, वह सभी हिंदू हैं। मुस्लिम लड़कियों के हाथों पर श्रीराम लिखवाने का आरोप बेबुनियाद है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

विज्ञापन बॉक्स