बस्ती: ऑपरेशन के दूसरे दिन मरीज की मौत, डाॅक्टर सहित पांच पर केस

90

कोतवाली क्षेत्र के कैली रोड पर स्थित निजी अस्पताल में हुई थी मौत

बस्ती। शहर के एक निजी हॉस्पिटल में इलाज के दौरान युवक की मौत होने पर परिवार के लोगों ने जमकर हंगामा किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लेकर उन्हें शांत कराया। मृतक के भाई का कहना है कि पेशाब के रास्ते में मांस चढ़ने का दो दिन पहले ऑपरेशन कराया गया था। डॉक्टर और अस्पताल के स्टाफ की लापरवाही से बृहस्पतिवार को मौत हो गई। कोतवाली पुलिस ने डाॅक्टर सहित पांच लोगों पर गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया है।
जानकारी के अनुसार, नगर थाना क्षेत्र के सिसवारी रघुवीर सिंह निवासी श्रवण कुमार का कहना है कि उनके भाई राजकुमार को पेशाब के रास्ते पर मांस चढ़ जाने की दिक्कत थी। हाल में ही राज कुमार की शादी तय हुई थी। परिवार के लोग चाहते थे कि शादी से पहले ऑपरेशन करवा दें। इसके लिए कैली रोड पर स्थित प्रकाश मेडिकल सेंटर जामडीह में भर्ती कराया। पुलिस को दी गई तहरीर के मुताबिक, बुधवार को अस्पताल में ऑपरेशन किया गया था। इसके बाद उसे दर्द शुरू हो गया। डाॅक्टर ने बताया कि दो घंटे में आराम हो जाएगा। मगर, दर्द बढ़ता गया। डिस्चार्ज करने को कहने पर उन लोगों ने अनसुना कर दिया। स्टाफ के लोग किसी बात को सीरियस नहीं ले रहे थे। कई घंटे तक परिवार के लोगों को मरीज से मिलने नहीं दिया गया। उन सबकी लापरवाही से मेरे भाई राजकुमार की मौत हो गई।

पुलिस ने मृतक के भाई श्रवण कुमार निवासी सिसवारी रघुवीर सिंह थाना नगर की तहरीर पर डा. शैलेन्द्र, डा. केसी पाण्डेय व अन्य स्टाफ नाम पता अज्ञात के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का केस दर्ज किया गया है। अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने बताया कि केस की तफ्तीश की जा रही है।

विज्ञापन बॉक्स