मरीन ड्राइव से हाजी अली का सफर 7 मिनट में होगा पूरा, मुंबई में खुल रहा कोस्टल रोड का सेकंड फेज, जानें पूरा रूट

70

Coastal Road Phase 2 Open : मुंबई के लोगों का सफर और आसान होने जा रहा है। कोस्टल रोड के सेकंड फेज पर लोग 11 जून से सफर कर सकेंगे। कोस्टल रोड का दूसरा फेज खुलने के बाद लोगों को मरीन ड्राइव से हाजी अली के बीच जाम में नहीं फंसना पड़ेगा।

मुंबई: कोस्टल रोड का दूसरा हिस्सा मरीन ड्राइव से हाजी अली के बीच सोमवार से आवागमन के लिए खोल दिया जाएगा, लेकिन गाड़ियों की आवाजाही 11 जून से ही शुरू होगी। सुबह 7 से रात 11 बजे तक यानी 16 घंटे यातायात की अनुमति होगी। एक अधिकारी ने बताया कि कोस्टल रोड का काम लगभग 90 प्रतिशत तक पूरा हो चुका है। मरीन ड्राइव से हाजी अली के बीच कोस्टल रोड की यह दूरी 6.25 किमी की है। यह दूरी रोड से तय करने में अभी 20-25 मिनट का समय लगता है। इसके खुलने से यह दूरी महज 7 मिनट में ही तय की जा सकेगी। 11 मार्च को वर्ली से मरीन ड्राइव के बीच खोले गए कोस्टल रोड के पहले हिस्से की लंबाई करीब 9.50 किमी से ज्यादा है। यानी इस बार करीब तीन किमी कम लंबा कोस्टल रोड खोला जाएगा। कोस्टल रोड की कुल लंबाई 10.58 किमी है, जो मरीन ड्राइव से बांद्रा वर्ली सी लिंक को जोड़ने के बाद पूरी हो जाएगी।

हाल ही में मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कोस्टल रोड का दौरा किया था। उन्होंने 10 जून से दूसरे हिस्से को आवागमन के लिए खोलने की बात कही थी। लोगों को उम्मीद थी कि मरीन ड्राइव से वर्ली तक आसानी से आ-जा सकेंगे, लेकिन दूसरे हिस्से को फिलहाल मरीन ड्राइव से हाजी अली तक ही आवागमन के लिए खोला जाएगा। हाजी अली से बिंदुमाधव ठाकरे चौक वर्ली तक का हिस्सा 10 जुलाई से शुरू होने की उम्मीद है।

सीएम ने दिया था निर्देश
कोस्टल रोड प्रॉजेक्ट से जुड़े बीएमसी के एक अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री शिंदे ने निर्देश दिया था कि बारिश से पहले जितना काम पूरा हुआ है, उस हिस्से को यातायात के लिए खोल दिया जाए। 10 जून को मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस, उपमुख्यमंत्री अजित पवार, मंत्री दीपक केसरकर, मंगल प्रभात लोढ़ा सहित बीएमसी कमिश्नर भूषण गगरानी व अन्य अधिकारियों की उपस्थिति में निरीक्षण के बाद कोस्टल रोड के दूसरे हिस्से को खोला जाएगा।

अमरसंस पार्क और हाजी अली में इंटरचेंज
इससे मरीन ड्राइव से हाजी अली का सफर आसान होगा। लोग अमरसंस पार्क और हाजी अली में इंटरचेंज का उपयोग कर सकेंगे। इन इंटरचेंजों से निकलने या प्रवेश करने से विभिन्न हिस्सों में जाने की सुविधा होगी। मुख्य रूप से बैरिस्टर रजनी पटेल चौक (लोटस जेट्टी) से वर्ली, बांद्रा और वत्सलाबाई देसाई चौक (हाजी अली) से ताड़देव, महालक्ष्मी, पेडर रोड की ओर यातायात आसान हो जाएगी।

5 दिन ही खुलेगा
कोस्टल रोड का यह हिस्सा सप्ताह में सोमवार से शुक्रवार तक पांच दिन खुला रहेगा। प्रॉजेक्ट के बचे हुए काम के कारण शनिवार और रविवार को दो दिन तक इसे बंद रखा जाएगा। कोस्टल रोड के दूसरे हिस्से के खुलने से मरीन ड्राइव से भुलाभाई देसाई मार्ग, बैरिस्टर रजनी पटेल चौक (लोटस जेट्टी) और वत्सलाबाई देसाई चौक (हाजी अली चौक) तक यात्रा करना संभव होगा।

कोस्टल रोड की विशेषताएं:
परियोजना लागत 13,983 करोड़ रुपये
मूल अनुमानित लागत-खर्च 8,429 करोड़ रुपये
कार्य प्रारंभ 13 अक्टूबर 2018
कोस्टल रोड का काम पूरा होने की उम्मीद अक्टूबर 2024
कोस्टल रोड की लंबाई 10.58 किमी
लेन 8 (4+4) (सुरंगों में 3+3 लेन)
सीमेंटेड सड़क 4.35 किमी
पुलों की कुल लंबाई 2.19 किमी
सुरंग डबल 2.07 किमी (प्रत्येक)
भूमिगत पार्किंग 4
कुल वाहन क्षमता 1,856
समुद्र का कुल भराव क्षेत्र 111 हेक्टेयर
खुला, हरित क्षेत्र 70 हेक्टेयर
समुद्री सुरक्षा दीवार, वॉक वे 7.47 किमी
सैरगाह 7.50 किमी