UP Police ने ‘तीसरी आंख’ से क्रिमिनल्स पर कसा शिकंजा, लगातार हो रही कार्रवाई पर DGP ने की सराहना

115

यूपी पुलिस के जवान लगातार लोगों की सुरक्षा में जुटे हुए हैं। पुलिस की मदद के लिए हाल ही में यूपी पुलिस ने बीते दिनों ऑपरेशन त्रिनेत्र लॉन्च किया था। इसकी मदद से लगातार अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई कर रही हैं। पुलिस महानिदेशक विजय कुमार ऑपरेशन की सफलता से काफी खुश हैं। उन्होंने कहा कि पिछले चंद दिनों में तीसरी आंख की मदद से कई वारदातों का खुलासा हुआ। इसी क्रम में उन्होंने इस अभियान के बारे में एक बार फिर से जानकारी दी है।

लगाए गए इतने कैमरे

जानकारी के मुताबिक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर यूपी पुलिस का ऑपरेशन त्रिनेत्र 10 जुलाई 2023 से शुरू हुआ था। सीसीटीवी कैमरों की मॉनिटरिंग क्षेत्रीय थानों से की जाती है। वारदात का फुटेज कैमरे में कैद होने पर पुलिस सक्रियता से कार्रवाई करती है। अगर बात करें इसके आंकड़े की तो10 जुलाई से पहले प्रदेश में 73,519 जगहों पर 93,878 सीसीटीवी कैमरे लगे थे, मगर डेढ़ महीने में ही इसमें बड़ा इजाफा हुआ है। 10 जुलाई से 24 अगस्त के बीच ऑपरेशन त्रिनेत्र के तहत 1 लाख 89 हजार 365 जगहों पर 3 लाख 36 हजार 383 सीसीटीवी कैमरे लगवाए गए हैं।

लखनऊ, वाराणसी, आगरा, प्रयागराज, नोएडा, गाजियाबाद, कानपुर पुलिस कमिश्नरेट इसमें अव्वल रहे हैं। इन शहरों में 32 हजार 544 स्थानों पर 66 हजार 343 सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं। आठ जोन में 83 हजार 302 जगहों पर 1 लाख 76 हजार 162 सीसीटीवी कैमरे इंस्टॉल किए गए हैं. पुलिस को सीसीटीवी कैमरे लगाने का फायदा भी मिल रहा है।

अब तक पकड़े गए इतने अपराधी

अभी तक पुलिस को सीसीटीवी कैमरों की मदद से लूटपाट के 52, हत्या के 17, अपहरण के 12, बलात्कार और छेड़खानी के 8, चोरी के 171 और अन्य 35 आपराधिक मामलों में बदमाशों का सुराग मिला है. इन मामलों के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

इसी के चलते प्रदेश के डीजीपी ने पुलिस विभाग को बधाई दी है। पुलिस महानिदेशक ने कहा कि कैमरे 24 घंटे ड्यूटी करते हैं। ऐसे में अपराधियों पर तीसरी आंख की पैनी नजर होने से बहुत हद तक अपराध को काबू करने में मदद मिलती है।