जांच कमेटी के सामने आज पेश होंगे ज्योति-आलोक:आरोपों के समर्थन में दस्तावेज और सबूत पेश करेंगे आलोक, ज्योति से हो सकती है पूछताछ

248

आरोपों के समर्थन में दस्तावेज और सबूत पेश करेंगे आलोक, ज्योति से हो सकती है पूछताछ

प्रयागराज (इलाहाबाद),Prayagraj (Allahabad)
पीसीएस अधिकारी ज्योति मौर्य और पति आलोक मौर्य के बीच विवाद के बाद ज्योति पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच कर रही कमेटी के सामने सोमवार को दोनों पेश होंगे। आलोक मौर्य से जांच कमेटी ने 8 अगस्त को हुई सुनवाई पर सुबूत मांगे थे। आलोक ने 20 दिन का समय मांगा था।

पीसीएस अफसर ज्योति मौर्या उस दिन जांच कमेटी के सामने पेश नहीं हुई थीं। उम्मीद की जा रही है कि सोमवार को आलोक और ज्योति मौर्या 3 सदस्यीय जांच कमेटी के सामने पेश होकर अपना अपना पक्ष रखेंगे।

लाल डायरी सुपुर्द कर सकते हैं आलोक मौर्या

आलोक मौर्या जांच कमेटी के सामने अपना बयान दर्ज कराएंगे। जांच कमेटी के समक्ष आलोक वह 100 पेज की डायरी भी देंगे जिसमें कथित तौर पर ज्योति मौर्या हर महीने भ्रष्टाचार से मिलने वाले रुपयों का लेखा-जोखा रखती थीं। इसके अलावा कई और सुबूत आलोक जांच कमेटी के सामने रखेंगे। उधर, ज्योति मौर्या भी अपने बचाव में अपना बयान जांच कमेटी के समक्ष दर्ज कराएंगी। दोनों से जांच कमेटी अलग अलग समय में पूछताछ करेगी।

आलोक ने कहा था-मेरे पास ज्योति के खिलाफ ठोस सुबूत

ज्योति मौर्य केस में 8 अगस्त को सुनवाई पर आए आलोक मौर्या ने कहा था कि,” मैंने SDM ज्योति मौर्य के ऊपर जो भी आरोप लगाए हैं। मुझे उन्हें साबित करने के लिए समय दिया जाए।” कमेटी ने उनकी बात सुनने के बाद कहा था,”आपके पास 20 दिन का समय है। इतने समय में आपने जो भी आरोप लगाए हैं। उनका सबूत पेश करें, जिसके बाद जांंच कमेटी ने 28 अगस्त को फिर से पेश होने का आदेश दिया था।

ज्योति पर भ्रष्टाचार के हैं गंभीर आरोप, हैंडराइटिंग मिलान से साफ होगी तस्वीर

आलोक मौर्या द्वारा जांच कमेटी को डायरी सौंपने के बाद कमेटी उसपर हैंडराइटिंग एक्सपर्ट को बुलवाकर ज्योति की राइटिंग का मिलान कराएगी। इसके बाद तय होगा कि लाल डायरी में हर महीने लाखों रुपयों की एंट्री ज्योति मौर्या ने की है या उसमें किसी तरह की छेड़छाड़ की गई है। अगर हैंडराइटिंग ज्योति मौर्या की साबित हो जाती है तब ज्योति के खिलाफ यह ठोस सुबूत होगा। इसके अलावा अगर डायरी में जिन-जिन लागाें के नाम से हर महीने रुपये मिले हैं अगर वो खुद आकर कहते हैं कि ज्योति मौर्या उनसे हर महीने पैसे वसूलती थीं तब यह ज्योति मौर्या की परेशानी बढाने वाला होगा। फिलहाल ज्योति मौर्या जहां जहां एसडीएम रही हैं वहां के मार्केटिंग इंस्पेक्टर और सप्लाई इंस्पेक्टर को भी नोटिस देकर बुलाने की तैयारी है। उनसे भी कमेटी पूछताछ करेगी कि आपने क्या ये रुपये दिए हैं। प्रशासनिक अमले में इस जांच से खलबली मची हुई है।

भ्रष्टाचार सिद्ध हुआ तो ज्योति मौर्या का हो सकता है सस्पेंशन

प्रशासनिक सूत्रों के मुताबिक अगर आलोक मौर्या द्वारा लगाए गए आरोप सिद्ध होते हैं तो ज्योति मौर्या का निलंबन हो सकता है और उनके खिलाफ विभागीय जांच भी हो सकती है। फिलहाल जांच कमेटी आलोक मौर्या द्वारा शासन से की गई शिकायत के आधार पर संबंधित लोगों को इसी सप्ताह नोटिस भेजकर पूछताछ के लिए बुलाएगी।

हर पेज पर बना रखा है स्वास्तिक और लिख रखा है शुभ लाभ

आलोक कुमार मौर्या ने जिस डायरी के आधार पर शासन से ज्योति मौर्या की शिकायत की है उस डायरी के हर पेज पर ऊपर और नीचे स्वास्तिक बना हुआ है और उसपर शुभ लाभ लिखा है। इसके अलावा महीना भी लिखा हुआ है। इसके बाद हर महीने कहां से और किस काम से कितना पैसा मिला इसका हिसाब-किताब भी लिखा हुआ है। आलोक ने दावा किया है कि यह हैंडराइटिंग ज्योति मौर्या की ही है। शासन चाहे तो इसकी जांच भी करा सकता है। ज्योति हर महीने मिलने वाले वसूली के पैसे और नीचे पेज पर हर महीने होने वाले खर्च के रुपये भी दर्ज करती थीं।

अक्टूबर 2021 की कमाई 6.4 लाख रुपए

ज्योति मौर्या कौशांबी के चायल तहसील में 2019 से 2021 के बच तैनात रही हैं। उनकी डायरी में इस दौरान भ्रष्टाचार से मिलने वाले रुपयों का हिसाब-किताब लिखा है। अगर अक्टूबर 2021 की बात की जाय तो केवल एक महीने में ज्योति मौर्या ने 6.4 लाख रुपए अवैध रूप से कमाए हैं। इसमें यह भी लिखा है कि हर महीने 15 हजार रुपये सप्लाई इंस्पेक्टर और 16 हजार मार्केटिंग इंस्पेक्टर देते हैं। हर पेज पर महीने वार भ्रष्टाचार का हिसाब-किताब, कहां से कितना रुपया मिला, कहां खर्च किया सब दर्ज है । अब यह डायरी जांच का विषय बन गई है।