1 सितंबर से मुंबई में भैंस के दूध की थोक कीमत में 2 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी

180

Milk Price Hike: मुंबई में भैंस के दूध की थोक कीमतें दो रुपये प्रति लीटर बढ़ गई हैं. बढ़ी कीमतें एक सितंबर से लागू की जाएगी.

मुंबई: अगले महीने शुरू होने वाले त्योहारी सीजन से पहले मुंबई मिल्क प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (एमएमपीए) ने शनिवार को शहर में भैंस के दूध के थोक मूल्य में दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की घोषणा की है. एक अधिकारी ने यहां बताया कि बढ़ी हुई कीमत 1 सितंबर से लागू होगी. एमएमपीए के उपाध्यक्ष रमेश दुबे की अध्यक्षता में हुई बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया. इस कदम से अगले कुछ महीने में गणेशोत्सव, नवरात्रि, दिवाली आदि त्योहारों के दौरान दूध से संबंधित सभी खाद्य पदार्थों की कीमतों में वृद्धि होने की संभावना है. एमएमपीए समिति के सदस्य सी.के. सिंह ने कहा कि देश की वाणिज्यिक राजधानी में 3,000 से अधिक रिटेलरों द्वारा बेचे जाने वाले भैंस के दूध की कीमत 85 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 87 रुपये प्रति लीटर की जाएगी. नई कीमत छह महीने तक लागू रहेगी, जिसके बाद इसकी समीक्षा की जाएगी.
सी.के. सिंह ने बताया, “1 सितंबर से कीमतों में दो रुपये प्रति लीटर या 85 रुपये प्रति लीटर से 87 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी के साथ, खुदरा दरें 90 रुपये प्रति लीटर या यहां तक कि 95 रुपये प्रति लीटर तक बढ़ने की उम्मीद है, जो इलाके और स्थानीय मांग पर निर्भर करेगा.

इस साल 1 मार्च के बाद यह दूसरी बढ़ोतरी होगी. उस समय भैंस के दूध की थोक कीमत 80 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 85 रुपये प्रति लीटर कर दी गई थी, जिससे गरीब और मध्यम वर्गीय परिवारों के घरेलू बजट पर भारी असर पड़ा. नवीनतम मूल्य वृद्धि से दूध की मांग पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ेगा जो त्योहारी सीजन के दौरान 20-25 प्रतिशत बढ़ जाती है जब बड़ी मात्रा में मिठाइयाँ तैयार की जाती हैं.
एमएमपीए के सभी सदस्यों ने महसूस किया कि चूँकि दुधारू पशुओं के साथ-साथ उनके खाद्य पदार्थ जैसे दाना, तुवर, चूनी, चना-चूनी आदि की कीमतों में औसतन 20-25 प्रतिशत की वृद्धि हुई है. इसके अलावा घास, भूसी, पिंडा आदि की दरों में भी भारी वृद्धि हुई है. इस वजह से दूध की दर भी बढ़ाई जानी चाहिए. मुंबई में प्रतिदिन 50 लाख लीटर से अधिक भैंस के दूध की खपत होती है, जिसमें से सात लाख लीटर से अधिक की आपूर्ति एमएमपीए द्वारा अपनी डेयरियों और पड़ोसी रिटेलरों की श्रृंखला और देश की वाणिज्यिक राजधानी में और उसके आसपास फैले फार्मों के माध्यम से की जाती है.
संयोग से, इस साल फरवरी में महाराष्ट्र के सभी प्रमुख गाय दूध उत्पादक संघों के साथ-साथ अन्य प्रमुख ब्रांडेड उत्पादकों ने गाय के दूध की कीमत में कम से कम दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की थी. उनसे उम्मीद की जाती है कि वे एमएमपीए की नवीनतम मूल्य वृद्धि के अनुरूप कदम उठाएंगे, जिससे अगले महीने से घरेलू वित्त पर और दबाव पड़ेगा.

Mumbai Milk Rate: त्योहारों से पहले आम आदमी को झटका, 3 रुपए महंगा हुआ भैंस का दूध

Milk Price Hike: टमाटर, प्याज और डेयरी पर मिलने वाले खुले दूध के दाम बढ़ने से आम आदमी की चिंता बढ़ गई है। अगले महीने से शुरू होने वाले त्योहारी सीजन से पहले दूध की कीमत में तीन रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी होगी।
Mumbai Buffalo Milk Rate: त्योहारी सीजन से पहले मुंबईवासियों को महंगाई का एक और झटका लगने वाला है। सब्जियों और फलों के दाम आसमान पर है, इस बीच मुंबई में दूध के दाम में वृद्धि की गयी है। मुंबई दुग्ध उत्पादक संघ (MMPA) ने शहर में भैंस के दूध की कीमत बढ़ाने का फैसला किया है। फिलहाल मुंबई में भैंस का दूध 80 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। इसके तहत 1 सितंबर से मुंबई में खुला दूध तीन रुपये तक महंगा मिलेगा। जबकि दूध का होलसेल यानी थोक भाव भी दो रुपये बढ़ने वाला है।

milk_price_hike news

मुंबई में 1 सितंबर से बढ़ेगा दूध का रेट

टमाटर, प्याज और डेयरी पर मिलने वाले खुले दूध के दाम बढ़ने से आम आदमी की चिंता बढ़ गई है। अगले महीने से शुरू होने वाले त्योहारी सीजन से पहले एमएमपीए ने 1 सितंबर से शहर में भैंस के दूध की थोक कीमत में 2 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की घोषणा की है।

यह भी पढ़ें
गणेशोत्सव के दौरान तीन दिन रात 12 बजे तक लाउडस्पीकर की अनुमति
एमएमपीए के मुताबिक, गीले चारे और पशु आहार की कीमत में बढ़ोतरी के कारण दूध का भाव बढ़ाया गया है. मुंबई में 1 सितंबर से भैंस के दूध की रिटेल कीमत 2 से 3 रुपये प्रति लीटर बढ़ेगी। जबकि थोक मूल्य (होलसेल) में भी दो रुपये का इजाफा होगा.

शनिवार को मुंबई के जोगेश्वरी में करीब 700 दूध डेयरी मालिकों और 50 हजार भैंस मालिकों की मुंबई मिल्क एसोसिएशन (MMPA) की बैठक हुई. इस बैठक में दूध के दाम बढ़ाने का फैसला लिया गया है. एमएमपीए के उपाध्यक्ष रमेश दुबे की अध्यक्षता में हुई बैठक में सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया. हालाँकि, इस फैसले के कारण गणेशोत्सव, नवरात्रि, दिवाली आदि त्योहारों के दौरान दूध से संबंधित सभी खाद्य पदार्थों की कीमतें बढ़ने की संभावना है।

देश की वाणिज्यिक राजधानी में 3,000 से अधिक खुदरा विक्रेताओं द्वारा बेचे जाने वाले भैंस के दूध की कीमत छह महीने के लिए 85 रुपये प्रति लीटर से बढ़ाकर 87 रुपये प्रति लीटर की जाएगी, जिसके बाद इसकी समीक्षा की जाएगी। जबकि 1 सितंबर से दूध की खुदरा कीमत 90 रुपये प्रति लीटर या 95 रुपये प्रति लीटर तक बढ़ने की संभावना है।

मालूम हो कि इसी साल एक मार्च के बाद से भैंस के दूध के दाम में दूसरी बार बढ़ोतरी की गई है। दूध की कीमत बढ़ने से खासकर मध्यमवर्गीय परिवारों पर आर्थिक मार पड़ती है. मुंबई में प्रतिदिन 50 लाख लीटर से अधिक भैंस के दूध की आपूर्ति होती है। इसमें से साथ लाख लीटर से अधिक दूध की आपूर्ति एमएमपीए की डेयरियों आदि द्वारा की जाती है।

विज्ञापन बॉक्स