श्रावस्ती: सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु नवीन ब्लैक स्पॉटो का किया जाए चिन्हांकन-जिलाधिकारी

37

15 वर्ष एवं इससे अधिक पुराने सरकारी/अर्द्धसरकारी वाहनों को स्क्रैप कराने हेतु की जाए कार्यवाही-जिलाधिकारी

रिपोर्ट । प्रवीण कुमार मिश्रा

श्रावस्ती। जिलाधिकारी कृतिका शर्मा की अध्यक्षता में जिला सड़क सुरक्षा समिति व 15 वर्ष एवं इससे अधिक पुराने सरकारी/अर्द्ध सरकारी वाहनों को रजिस्ट्रीकृत यान स्कै्रपिंग केन्द्र(आर0वी0एस0एफ0) के माध्यम से स्क्रैप कराने के सम्बन्ध में कलेक्ट्रेट सभागार में बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने जिले में यातायात नियमों का शत-प्रतिशत अनुपालन सुनिश्चित कराये जाने हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने हेतु चिन्हित ब्लैक स्पॉटो की स्थिति एवं उन पर किये जाने वाले सुधारात्मक कार्य तथा नवीन ब्लैक स्पाट्स हेतु चिन्हांकन किया जाए एवं दुर्घटना के कारणों का पता लगाया जाये।
उन्होने निर्देश दिया कि जनपद के समस्त विभागों/निकाय/निगम आदि में संचालित 15 वर्ष एवं इससे अधिक पुराने सरकारी/अर्द्धसरकारी वाहनों को रजिस्ट्रीकृत यान स्कै्रपिंग केन्द्र के माध्यम से स्क्रैप कराने हेतु कार्यवाही की जाए। जनपद में एन0एच0-730 पर सड़क दुर्घटना को कम करने हेतु कार्ययोजना बनाकर आवश्यक कार्यवाही की जाए, जिससे सड़क दुर्घटना में कमी लायी जा सके। शहर के प्रमुख मार्गाे पर सड़क सुरक्षा चिन्हों का बोर्ड/संकेतांक, स्पीड ब्रेकर, रिफ्लेक्टिंग (कलर), रंबलिंग स्ट्रिप बनाये जाएं। मार्गो के मोड़ पर, डिवाइडर व सड़क के किनारे पेड़ों पर रिफ्लेक्टर टेप लगाया जाए, जिससे सड़क दुर्घटना में कमी लायी जा सके।
जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि बड़े वाहनों में क्षमता से अधिक व्यक्तियों को बैठाकर उनका संचालन न किया जाए, इसका ध्यान रखा जाए। नशे में वाहन चलाने वालों पर कार्यवाही की जाए। दो पहिया चालक व पीछे बैठने वाले व्यक्तियों द्वारा निर्धारित मानक के हेल्मेट का उपयोग न करने पर तथा चार पहिया वाहनों में सीट-बेल्ट का उपयोग न करने वालों पर कार्यवाही की जाए। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि सड़क दुर्घटना होने की स्थिति में तुरंत चिकित्सा की सुविधा उपलब्ध करायी जाए। जिससे गोल्डेन आवर (दुर्घटना से 01 घण्टा) में घायलों को उचित इलाज मिल सके। दुर्घटना में घायल व्यक्तियों को स्वैच्छिक रूप से मदद करने वाले व्यक्तियों (गुड सेमिरिटन) को पुरस्कृत किया जाए। जिलाधिकारी ने आईरैड ऐप से जुड़े सभी सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा शत-प्रतिशत डाटा फीड समय से कराये जाने का निर्देश दिया है।उन्होने जनपद वासियों से अपील किया कि यातायात नियमों का अक्षरशः पालन करें, क्योंकि जीवन बहुत ही अमूल्य है। वाहन चलाते समय सीट बेल्ट एवं हेल्मेट का प्रयोग करें। उन्होने यह भी कहा कि जो भी व्यक्ति यातायात नियमों का पालन नहीं करते पाया गया, तो उसके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही भी की जायेगी।इस अवसर पर अपर पुलिस अधीक्षक प्रवीण कुमार यादव, उपजिलाधिकारी भिनगा पीयूष जायसवाल, सहायक सम्भागीय परिवहन अधिकारी वी0के0 मिश्र, यात्री/मालकर अधिकारी श्री महेश कुमार वर्मा, उपमुख्य चिकितसाधिकारी डा0 उदयनाथ, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग एस0के0 हरित, जिला विद्यालय निरीक्षक मिथलेश कुमार, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमिता सिंह, यातायात निरीक्षक मनीष पाण्डेय, सम्भागीय निरीक्षक भीमसेन, ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर शरद श्रीवास्तव, एन0आई0सी0 के डिस्ट्रिक्ट रोलआउट मैनेजर शिवकुमार पाठक सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

विज्ञापन बॉक्स