UP: रक्षाबंधन पर CM योगी ने 29523 बेटियों को दिया तोहफा, खाते में ट्रांसफर की कन्या सुमंगला योजना की राशि

131

राजधानी लखनऊ (Lucknow) में बुधवार को आयोजित मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना कार्यक्रम के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने बटन दबाकर 29523 बेटियों के खाते में कन्या सुमंगला योजना की राशि हस्तांतरित की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि कि हमारा भारतीय समाज मातृ वंदन को बढ़ावा देता रहा है। सरकार की ओर से भी समय समय पर योजनाएं चलाई जाती हैं। बेटियों को आगे बढ़ने का मौका मिलना चाहिए।

बेटियों ने सीएम योगी को बांधी राखी

सीएम योगी ने कहा कि जिन बेटियों ने संस्मरण सुनाये है उनका आत्मविश्वास झलक रहा था। बोर्ड परीक्षा हो या प्रतियोगी परीक्षा जब बिना भेदभाव के परिणाम आने लगें तो बेटियां आगे आने लगीं। वहीं, कार्यक्रम में बेटियों ने मुख्यमंत्री योगी को राखी भी बांधी। इस दौरान 10 बेटियों को कार्यक्रम में राशि वितरित की गई। मुख्यमंत्री ने उन्हें चेक सौंपा और साथ में चॉकलेट भी दी।


अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि बेटियों का आत्मविश्वास बता रहा है कि सरकार की योजनाएं सफलतापूर्वक आगे बढ़ रही हैं। 2017 से पहले बेटियों को नंगे पैर स्कूल जाना पड़ता था। बेटियों के साथ घर परिवार में भेदभाव और अन्याय होता है ऐसे अभिभावक बेटी के साथ ही नहीं समाज के साथ भी अन्याय कर रहे हैं।

परिषदीय स्कूलों में 1.91 करोड़ बच्चों को मिली यूनिफार्म

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार आने के बाद प्रदेश सरकार ने तय किया कि बेटी भी अच्छी यूनिफॉर्म पहनकर स्कूल जाएगी। आज परिषदीय स्कूलों में 1.91 करोड़ बच्चों को यूनिफार्म मिल रही है। आर्थिक तंगी के कारण बच्चों को नहीं पढ़ा पा रहे अभिभावकों के लिए सरकार सम्बल बनेगी। उन्होंने कहा कि बेटियों की स्नातक तक की पढ़ाई फ्री करने की दिशा में सरकार काम कर रही है।

Also Read: घरेलू गैस सिलेंडर के दामों में कटौती पर CM योगी ने PM का जताया आभार, कहा- यह मातृ शक्ति के लिए ‘विशिष्ट उपहार’ है

इस मौके पर महिला एवं बाल कल्याण मंत्री बेबी रानी मौर्य भी मौजूद रहीं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी ने रक्षाबंधन के मौके पर बेटियों की चिंता करते हुए कार्यक्रम रखा है। कन्या सुमंगला योजना में जन्म के समय से डिप्लोमा तक राशि दी जाती है। इस योजना के लिए 1050 करोड़ का बजट है।

उन्होंने कहा कि बेटियों और महिलाओं के लिए सरकार की अनेक योजनाएं चल रही है। 32 लाख महिलाओं को पेंशन दी जा रही है। रानी लक्ष्मीबाई योजना के तहत दुराचार पीड़ित महिलाओं की मदद की जाती है। वृंदावन में भी महिलाओं के लिए आश्रम संचालित है। महिलाओं की सुरक्षा और स्वाभिमान के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )