‘उड़ता ताजमहल’ क्यों कहा जाता है ट्रूडो के इस 36 साल पुराने प्लेन को, न Wi-Fi, न चार्जिंग प्लग, जानें विमान का इतिहास

229

Canada PM Justin Trudeau 36 Years Old Plane: जी-20 सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो समिट की समाप्ति के बाद भी भारत में ही थे।

Canada PM Justin Trudeau 36 Years Old Plane No Wi-Fi No Charging Plug: जी-20 सम्मेलन में भाग लेने पहुंचे कनाडाई प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो समिट की समाप्ति के बाद भी भारत में ही थे। उनका पूरा प्रतिनिधिमंडल भी उनके साथ होटल ललित में रूका हुआ था। उनके आधिकारिक विमान में तकनीकी खराबी के कारण उन्हें यहां रूकना पड़ा।

यह है विमान का इतिहास

आपको बता दें कि उनका यह विमान साल 1987 वार्डएयर द्वारा खरीदा गया था। इसके बाद 1992 में यह कनाडाई एयरफोर्स ने इसे अपने बेड़े में शामिल कर लिया। फिलहाल इसका उपयोग कनाडाई पीएम करते हैं। ऐसा नहीं है कि इस विमान ऐसी तकनीकी खराबी पहली बार आई है इससे पहले यह विमान कई बार खराब हो चुका है।

वाईफाई की सुविधा भी नहीं है

ट्रूडो के इस विमान को ‘उड़ता ताजमहल’ भी कहा जाता है। इसका ये नामकरण इसलिए किया गया है क्योंकि तकनीक के मामले में यह विमान बहुत पीछे रह गया है। इस विमान में सुविधाएं न के बराबर है। विमान में वाईफाई की सुविधा भी नहीं है। मोबाइल और लैपटाॅप चार्ज करने के लिए प्लग तक नहीं है। इसके लिए विमान के फर्श पर केबल बिछाई गई है।

कनाडाई पीएम के लिए इस विमान में कोई खास सुविधा नहीं है। उनके लिए एक अलग से कैबिन इस विमान में बनाया गया है। बाकी सारी सुविधाएं आम पैसेंजरों वाली ही है।


दुनिया प्रदेश की ताजा तरीन खबरें और रोचक जानकारीयों के लिए जुडिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से..लेटेस्ट ब्रेकिंग न्यूज अपने व्हाट्सएप पर पायें…