सिद्धार्थनगर: सांडीकला में विकास कार्य में धांधली: 4 माह पहले हुई थी शिकायत, न्याय के नाम पर मिल रहा केवल आश्वासन

411

  • मिठवल ब्लाक में मनरेगा योजना में बड़े पैमाने पर धांधली बीडीओ की मिलीभगत से जिम्मेदार कर्मचारी कर रहे जमकर सरकारी धन का गबन और फर्जीवाड़ा..

  • संपूर्ण प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच कराकर सरकारी धनराशि की रिकवरी कराते हुए कार्रवाई किये जाने की मांग

  • मिठवल ब्लाक में मनरेगा योजना में बड़े पैमाने पर धांधली बीडीओ की मिलीभगत से जिम्मेदार कर्मचारी कर रहे जमकर सरकारी धन का गबन और फर्जीवाड़ा..
  • संपूर्ण प्रकरण की उच्चस्तरीय जांच कराकर सरकारी धनराशि की रिकवरी कराते हुए कार्रवाई किये जाने की मांग

सिद्धार्थनगर। एक ओर जहां सरकार देश के हर छोटे से छोटे गाँव में विकास की रफ्तार तेज करने की बात कर रही है, ताकि ग्रामीणों को इससे ज़्यादा से ज़्यादा लाभ हो। वहीं दूसरी ओर जिम्मेदारों की मिलीभगत के कारण निर्माण कार्यों में भ्रष्टाचार कर शासन को लाखों को चुना लगा रहा है। आए दिन हमें देखने और सुनने को मिलता है कि जिम्मेदार संबंधित विभाग से सांठगांठ कर सरकारी खजाने को लाखों-करोड़ों की चपत लगा रहे हैं।

विकास के धन का दुरूपयोग करने का मामला सामने आया है। विकास खण्ड मिठवल तहसील बांसी ग्राम पंचायत सांडीकला निवासी महिला ने प्रार्थना पत्र दिया है। जिसमें कहा गया है ग्राम पंचायत द्वारा कराए जा रहे विकास कार्य में बड़े पैमाने पर धांधली की जा रही है। आरोप है कि ग्राम पंचायत द्वारा कराए गए कार्य पर पुनः मात्र औपचारिकता पूरी करके सरकारी धन का भुगतान किया जा रहा है। जिसमें चकमार्ग की पटाई व तालाब सौंदरीकरण सहित अन्य कार्य सामिल है। यही नहीं कायाकल्प योजना के तहत विद्यालय में निम्न गुणवत्ता का कार्य करवाकर धन का दुरुपयोग किया जा रहा है।

ग्राम प्रधान के द्वारा ग्राम पंचायत में किए जा रहे बड़े पैमाने पर सरकारी पैसे का बंदरबांट महिला ग्रामीण ने ग्राम प्रधान के द्वारा भ्रष्टाचारी शिकायत की गई है। शिकायत के बावजूद अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं हुई है। खण्ड विकास अधिकारी से शिकायत होने के बावजूद भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। बताते चलें कि मामला विकास खण्ड मिठवल तहसील बांसी के सांडीकला ग्राम पंचायत में वर्तमान ग्राम प्रधान के द्वारा ग्राम पंचायत में हो रहे विकास कार्यों में बड़े पैमाने पर धांधली की जा रही है। कागजों में नए मटेरियल दिखाकर सरकारी पैसे को गबन किया जा रहा है।

मनरेगा योजना में बड़े पैमाने पर धांधली

मनरेगा योजना में बड़े पैमाने पर धाधली की जा रही है। मगर जिम्मेदार अधिकारी शिकायत के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं कर रहे हैं। प्रकरण विकास खंड विकास खण्ड मिठवल अंतर्गत ग्राम सांडीकला से जुड़ा है। यहां विकास कार्य में बड़े पैमाने पर धांधली की जा रही हैं। मनरेगा योजना के तहत फर्जी श्रमिकों के नाम का मास्टर रोल जारी करवाकर बिना कार्य करवाए ही भुगतान किया जा रहा है। इस तरह फर्जी श्रमिकों के नाम से मस्टर रोल निर्गत करवाकर बिना पटाई कार्य करवाए ही सरकारी धन का भुगतान किया जा रहा है। आरोप है कि उसने पूर्व में भी मनरेगा योजना में धांधली किये जाने की कई बार शिकायत कर चुका है। मगर स्थानीय अधिकारियों की संलिप्तता की वजह से कोई कार्रवाई नही हो पा रही है। उसने प्रकरण की उच्च स्तरीय जांच कराकर धन की रिकवरी कराते हुए कार्रवाई किये जाने की मांग की है।