Health Tips: अगर आपको भी बढ़ाना है अपना Stamina, तो आज ही डाइट में शामिल करें यह चीज़ें

142

अक्सर कई लोग ऐसे होते हैं जो थोड़ा सा काम करने के बाद काफी थकान महसूस करने लगते हैं जबकि कुछ लोगों को सीढ़ियां चढ़ने-उतरने या फिर पैदल चलने के दौरान हाफी आने लगती है। माना जाता है कि ऐसे लोगों के शरीर में स्टेमिना (Stamina) की कमी होती है। स्टेमिना हमारे शरीर की क्षमता या ताकत होती है, जिसके द्वारा हमारा शरीर पूरे दिन अनेक तरह के कार्यों को करता है। आजकल लोग योगा, एक्सरसाइज, वर्कआउट करके शरीर के स्टेमिना को बनाए रखने का प्रयास करते हैं। हालांकि इससे भी जरूरी हमारे शरीर को पौष्टिक आहार मिलना।

केला

केला एक बहुत ही गुणकारी फल है। इसमें विटामिन ए और बी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। केले में मौजूद फाइबर की मात्रा हमारे शरीर के स्टेमिना को बढ़ाने में सहायक है, इसलिए आपको नाश्ते में केले का सेवन करना चाहिए।

Also Read: Health Tips: इन 5 हेल्दी स्प्राउट्स खाने से शुगर के मरीजों को मिलेगा कब्ज़ से छुटकारा

खट्टे फल

खट्टे फल जैसे संतरा, आंवला आदि में फाइबर, कैल्शियम और विटामिन 6 भारी मात्रा में पाया जाता है। ये शरीर के स्टैमिना और रोग प्रतिरोधक क्षमता दोनों को ही बढ़ाने में सहायक है, इसलिए हमें स्टैमिना शक्ति को बढ़ाने के लिए अपने आहार में खट्टे फलों को शामिल करना चाहिए।

बादाम

बादाम में मौजूद प्रोटीन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, फाइबर आदि हमारे शरीर के स्टैमिना को बढ़ाने में मद्द करते हैं। ऐसे में रोजाना एक बादाम खाने से आपकी मानसिक और शारीरिक दोनों ही क्षमताओं का विकास होता है। साथ ही बादाम हमारी हड्डियों को भी मजबूत बनाता है। इसके अलावा आप हेजलनट, चेस्टनट आदि नट्स का प्रयोग भी स्टैमिना बढ़ाने में कर सकते हैं। इसके सेवन से ना केवल स्टैमिना बल्कि आपके शरीर में रक्त का संचार भी बढ़ता है।

हरी सब्जियां

हरी सब्जियों का सेवन हमारे शरीर के लिए बेहद ही लाभदायक होता है। इसमें मौजूद आवश्यक गुण हमारे शरीर में आयरन की कमी को पूरा करते हैं। साथ ही शरीर के स्टैमिना को बढ़ाने में भी सहायक हैं। इसमें विटामिन ए और कैल्शियम भी पाया जाता है, जो हमारे शरीर को आंतरिक रूप से मजबूत बनाते हैं।

Also Read: Health Tips: आज से ही अपनी डाइट में शामिल करें काजू, हैरान कर देंगे इसके फायदे

पीनट बटर

यह ऊर्जा से भरपूर एक पौष्टिक आहार है। इसके सेवन से ना केवल आपको प्रोटीन बल्कि शारीरिक मजबूती भी मिलती है। पीनट बटर के रोजाना सेवन से आपकी मांसपेशियों को भी बल मिलता है, साथ ही इसमें मौजूद ओमेगा 3 फैट्स के माध्यम से आपको स्टेमिना की भी प्राप्ति होती है।

अखरोट

अखरोट भी ड्राई फ्रूट्स की श्रेणी में आता है। इसमें भी प्रचुर मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम पाया जाता है। इसके सेवन से आपके शरीर में स्टेमिना बढ़ता है। साथ ही यह आपके कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है।

कैफिन

आपने अधिकतर पेय पदार्थों के सेवन के दौरान कैफिन का नाम सुना होगा। कैफीन में मौजूद गुणकारी पदार्थ व्यक्ति की शारीरिक ऊर्जा और कार्यक्षमता को बढ़ाने का कार्य करते हैं। साथ ही इससे आपका स्टैमिना भी बढ़ता है। वैज्ञानिक शोध के अनुसार, एक व्यक्ति यदि करीब 6 मिलीग्राम कैफीन का सेवन करता है, तो इससे उसके शरीर का स्टैमिना अवश्य बढ़ता है।

Also Read: Health Tips: अगर आपकी बॉडी में है आयरन की कमी, तो दूर करेंगे ये हेल्दी फूड्स

अश्वगंधा

अगर आप नियमित तौर पर अश्वगंधा का प्रयोग करते हैं तो यह भी आपके स्टैमिना को बढ़ाने में सहायक है। इसे एक हर्बल सप्लीमेंट के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है, जिससे आपके शरीर को एनर्जी मिलती है।

ब्राउन राइस

अगर आप अपने आहार में ब्राउन राइस को शामिल कर लेते हैं, तो यह ना केवल आपको जरूरी फाइबर और विटामिन प्रदान करते हैं। इसके साथ ही आपके शरीर के स्टेमिना को बनाए रखने में भी कारगर हैं। ब्राउन राइस आपके शरीर को पूरे दिन एनर्जी प्रदान करते हैं, जिससे आपको कार्य के दौरान थकान का अनुभव नहीं होता है।

काला चना

सुबह नाश्ते के दौरान अगर आप उबले काले चने खाते हैं, तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद साबित होते हैं। काले चने में मौजूद पोषक तत्व आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बनाए रखते हैं। साथ ही कई सारी बीमारियों से आपके शरीर को बचाता है। काले चने का सेवन आपके बीपी, डायबिटीज और पाचन क्रिया को भी सही रखता है। ऐसे में जो लोग काले चने का सेवन प्रतिदिन करते हैं, उनके शरीर में दिनभर स्टेमिना बना रहता है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए फेसबुक  पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

विज्ञापन बॉक्स