इजरायल के ऊर्जा मंत्री का ऐलान- बंधकों की रिहाई तक गाजा को बिजली, ईंधन और पानी नहीं मिलेगा

110

इजरायल (Israel) के ऊर्जा मंत्री इजरायल काट्ज (Energy Minister Israel Katz) ने गुरुवार को बड़ा ऐलान किया है। उन्होंने कहा कि जब तक हमास आतंकवादी समूह बंधकों को मुक्त नहीं कर देता, तब तक गाजा (Gaza) पट्टी के लिए बिजली, ईंधन या पानी की आपूर्ति नहीं होगी।

ऊर्जा मंत्री ने एक्स पर पोस्ट कर कही ये बात

इजरायल के ऊर्जा मंत्री ने एक्स पर पोस्ट किया कि जब तक इजरायली के अपहृत लोगों की घर वापसी नहीं हो जाती, तब तक कोई बिजली का स्विच चालू नहीं किया जाएगा, कोई जल हाइड्रेंट नहीं खोला जाएगा और कोई भी ईंधन ट्रक (गाजा) में प्रवेश नहीं करेगा। मानवतावादी और कोई भी हमें नैतिकता का उपदेश नहीं देगा।

Also Read: Israel-Palestine War: फिलिस्तीन का समर्थन मिया खलीफा को पड़ा बहुत भारी, बिजनेस डील गई, प्लेबॉय ने भी लिया एक्शन






इजरायली अधिकारियों के अनुसार, आतंकवादी समूह ने 7 अक्टूबर को अपने हमले के बाद गाजा में 150 लोगों को बंधक बना लिया है। हमले के जवाब में इजरायली रक्षा मंत्री योव गैलेंट ने सोमवार को पूरे गाजा की घेराबंदी का आदेश दिया था। साथ ही कहा था कि वह बिजली, भोजन, पानी और ईंधन की आपूर्ति रोक देंगे।

बिजली न होने से अस्पतालों का मुर्दाघर में तब्दील होने का खतरा

ईंधन की कमी के कारण गाजा पट्टी के एकमात्र बिजली स्टेशन ने बुधवार को काम करना बंद कर दिया था। जिस वजह से अस्पतालों सहित हमास-नियंत्रित एन्क्लेव में हर सुविधा जनरेटर पर निर्भर है, जिसके बदले में ईंधन की ताजा आपूर्ति की आवश्यकता होती है।






Also Read: ईरान की जेल में बंद नरगिस मोहम्मदी को मिला 2023 का नोबेल शांति पुरस्कार






गुरुवार को रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति ने चेतावनी दी कि बिजली न होने के कारण अब अस्पतालों के मुर्दाघर में तब्दील होने का खतरा है। आईसीआरसी के क्षेत्रीय निदेशक फैब्रीजियो कार्बोनी ने कहा कि इस तनाव के कारण हुई मानवीय पीड़ा घृणित है, और मैं पक्षों से नागरिकों की पीड़ा को कम करने का आग्रह करता हूं।

उन्होंने कहा कि जैसे ही गाजा की बिजली खत्म होती है, अस्पतालों की बिजली खत्म हो जाती है, जिससे इनक्यूबेटरों में नवजात शिशुओं और ऑक्सीजन पर मौजूद बुजुर्ग मरीज़ों को खतरा हो जाता है। किडनी का डायलिसिस बंद हो जाता है, और एक्स-रे किये जानें बंद हो जाते हैं।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )