श्रावस्ती: जिलाधिकारी ने चैलाही में वृहद जन चौपाल में सुनी जनता की समस्यायें, निराकरण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को दिया निर्देश

61

जिलाधिकारी ने चौपाल में लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड का किया वितरण

 श्रावस्ती। प्रदेश के माननीय मुख्यमंत्री जी के मंशानुसार जिले में ’’प्रशासन आपके द्वार’’ कार्यक्रम के तहत विकास खण्ड सिरसिया अन्तर्गत ब्रहमदत्त इण्टर कालेज चैलाही में जिलाधिकारी कृतिका शर्मा की अध्यक्षता में वृहद जन चौपाल का आयोजन किया गया। जिसका जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी अनुभव सिंह ने फीता काटकर शुभारम्भ किया। इस दौरान जिलाधिकारी ने ग्राम वासियों की समस्याओं को सुनकर उनके निराकरण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। जिलाधिकारी ने छः माह पूरा करने वाले बच्चों को अन्नप्राशन कराया व गर्भवती महिलाओं की गोद भराई भी किया। उन्होने आयुष्मान भारत योजना के 12 लाभार्थियों को गोल्डेन कार्ड का भी वितरण किया। इस दौरान उन्होने 10 क्षय रोगियों को पोषण किट भी प्रदान किया। चौपाल में जिलाधिकारी के समक्ष कई फरियादी उपस्थित होकर वृद्धावस्था पेंशन, विधवा पेंशन, दिव्यांग पेंशन, दिव्यांगों को सहायक उपकरण, आवास, आयुष्मान कार्ड, राशन कार्ड, आधार कार्ड, किसान सम्मान निधि का लाभ दिलाये जाने से सम्बन्धित गुहार लगायी, जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि फरियादियों को अपने स्टालों पर ले जाएं और इनका रजिस्टेªशन करायें तथा पात्रता का सत्यापन कर इन्हें लाभान्वित करें। चौपाल में उपस्थित सभी सम्बन्धित अधिकारी यह भी सुनिश्चित करें कि कोई भी पात्र व्यक्ति सरकार की योजनाओं से अछूता न रहने पाये। चौपाल में आने वाले सभी आवेदनों की जांच कर पात्रता के आधार पर उन्हें लाभान्वित किया जाए।जिलाधिकारी ने बताया कि सरकार जनता को सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए प्रतिबद्ध है। इसलिए जनता की प्रत्येक समस्याओं के निस्तारण के लिए ’’प्रशासन आपके द्वार’’ कार्यक्रम के तहत जिला प्रशासन के अधिकारी/कर्मचारी चौपाल में उपस्थित रहकर निस्तारण किया जा रहा है। उन्होने बताया कि फरियादियों की हर समस्याओं को पंजिका में सूचीबद्ध किया जायेगा और सत्यापन कराकर पात्रता के आधार पर उन्हें सरकार की योजनाओं से लाभान्वित किया जायेगा।उन्होने कहा कि यदि किसी भी व्यक्ति की किसी भी विभाग से सम्बन्धित कोई समस्या है तो उनकी समस्याओं को सुनकर निराकरण करने एवं सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से यदि कोई भी व्यक्ति वंचित है और वह पात्रता की श्रेणी में है, किन्तु उनकों सरकार की योजनाओं का लाभ नहीं मिल रहा है। ऐसे पात्र लोगों का चिन्हांकन किया जायेगा, ताकि उन्हें सरकार की योजनाओं से जोड़ा जा सके। उन्होने कहा कि ग्राम वासियों को अपनी समस्याओं को लेकर जिला मुख्यालय या सम्बन्धित अधिकारियों के पास जाने में कई प्रकार की दिक्कतें होती थी, जिसको ध्यान में रखते हुए इस चौपाल का आयोजन कर सभी अधिकारियों को एक साथ उपस्थित किया गया है, ताकि उनकी समस्याओं का त्वरित निराकरण किया जा सके। इसके अलावा प्रमाण पत्र आदि से सम्बन्धित जो भी समस्याएं है, उनकों यहीं पर निस्तारित किया जायेगा। इस दौरान जिलाधिकारी ग्राम वासियों से सीधे संवाद कर उनकी समस्याओं को सुना तथा उनके निराकरण हेतु सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया। उन्होने सम्बन्धित अधिकारियों को यह भी निर्देश दिया कि चौपाल में जो भी जनता की समस्याएं/शिकायतें आयी है, उनकों सूचीबद्ध किया जाए और जिन शिकायतों का तत्काल निराकरण हो सकता है, उसे निस्तारित कर दिया जाए। ऐसी शिकायतें जिनका मौके से निस्तारित कराना सम्भव नही है, उनकी निस्तारण की कार्यवाही आज से ही प्रारम्भ कर दी जाए।

उन्होने बताया कि अब ’’प्रशासन आपके द्वार’’ कार्यक्रम के तहत जिले के सभी विकास खण्डों में भी कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। जिसमें सभी सम्बन्धित विभागीय अधिकारी अपने स्टाफ के साथ स्वयं मौजूद रहकर सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार करेंगे और चौपाल में आने वाली समस्याओं को सूचीबद्ध कर जिन समस्याओं का मौके पर निराकरण हो सकता है, उसका निराकरण करेंगे और ऐसी समस्याएं जिनका मौके पर निराकरण सम्भव नही है, उसे सूचीबद्ध कर पात्रता के आधार पर निराकरण हेतु अग्रिम कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे, ताकि आम जनमानस को अपनी समस्याओं के निस्तारण के लिए बार-बार जिला, तहसील एवं ब्लाक मुख्यालयों का चक्कर न लगाना पड़े।इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुभव सिंह ने कहा कि गांव के विकास के लिए सरकार प्रतिबद्ध है, इसलिए पात्रजनों को सरकार की योजनाओं से लाभान्वित करने के उद्देश्य से इस चौपाल का आयोजन किया जा रहा है, ताकि गांव के विकास के साथ-साथ पात्रों को सरकार की सभी योजनाओं का लाभ मिल सके। यदि कोई भी पात्र व्यक्ति सरकार की योजनाओं से अछूता है तो उसे जोड़ा जा सके और उसे सरकार की योजनाओं का लाभ मिल सके।इस दौरान चौपाल में क्रमबद्ध तरीके से सभी विभागों के स्टाल लगाये गये। जिसका जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी ने अवलोकन भी किया। जिसमें हेल्प डेस्क, चिकित्सा विभाग, जनसेवा केन्द्र, श्रम विभाग, पूर्ति विभाग, बैंक आधार अपडेशन, ईकेवाईसी कार्य, समाज कल्याण विभाग, महिला कल्याण विभाग, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग, कृषि विभाग, राजस्व विभाग, ग्राम्य विकास विभाग, पंचायती राज विभाग, उद्यान विभाग, पशु चिकित्सा, डी0डी0आर0सी0, होम्योपैथिक सहित अन्य तमाम विभागों के अधिकारियों द्वारा स्टाल लगाकर विभाग द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी दी गई। जिलाधिकारी ने कहा कि पेंशन से सम्बन्धित जिन लाभार्थियों की पेंशन नहीं मिल पा रही है, उनके सभी आवश्यक अभिलेखों को प्राप्त कर लिया जाए और सत्यापन के उपरान्त आनलाइन रजिस्टेªशन आदि की कार्यवाही सुनिश्चित की जाए। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि आंगनवाड़ी कार्यकत्री, आशा व ए0एन0एम0 द्वारा घर-घर जाकर सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार कर लोगों को जागरूक भी किया जाए।

चौपाल के दौरान पंचायती राज विभाग 07, ग्राम्य विकास विभाग 06, समाज कल्याण 52, प्रोवेशन विभाग 18, श्रम विभाग 03, जन सेवा केन्द्र एन0आई0सी0 08, पूर्ति विभाग 25, दिव्यांगजन सशक्तीकरण विभाग में कुल 50 शिकायतें/आवेदन पत्र प्राप्त हुई, जिनका मौके पर निस्तारण कराया गया तथा जिन शिकायतों का निस्तारण नहीं हो सका उन्हें सूचीबद्ध कर अग्रेतर कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया। इसके अलावा चौपाल में 110 पशुओं का ईलाज किया गया, उद्यान विभाग द्वारा कुल 25 कृषकों व कृषि विभाग द्वारा 16 कृषकों को प्रशिक्षण, 20 कृषकों को बीज के सम्बन्ध में जानकारी दी गई, 19 किसानों का ईकेवाईसी, 20 किसानों का भूलेख अंकन एवं 6 किसानों का नया पंजीकरण किया गया। होम्योपैथिक विभाग द्वारा 400 मरीजों का परीक्षण कर दवाईयां दी गई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा 18 मरीजों का नेत्र परीक्षण कराया गया।

चौपाल के दौरान सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग द्वारा सरकार की योजनाओं का एल0ई0डी0 के माध्यम से वृहद प्रचार-प्रसार किया गया तथा प्रदेश सरकार की योजनाओं पर आधारित ’’उत्तर प्रदेश सन्देश’’ नामक प्रचार साहित्य का भी वितरण किया गया।इस अवसर पर उपजिलाधिकारी भिनगा पीयूष कुमार जायसवाल, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ए0पी0 सिंह, जिला विकास अधिकारी रामसमुझ, तहसीलदार भिनगा विपुल कुमार जायसवाल, उपनिदेशक कृषि कमल कटियार, अग्रणी बैंक प्रबन्धक सुभाष चन्द्र मित्रा, जिला समाज कल्याण अधिकारी डा0 अमरनाथ यति, सहायक निदेशक मत्स्य सुरेश कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी सुबोध कुमार सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी पी0के0 दास, जिला उद्यान अधिकारी दिनेश चौधरी, अधिशासी अभियंता जल निगम एस0एम0 असजद, जिला पूर्ति अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी सिरसिया रामबरन, जिला समन्वयक स्वच्छ भारत मिशन हरिगेन्द्र वर्मा सहित अन्य सम्बन्धित विभागों के अधिकारी/कर्मचारीगण तथा भारी संख्या में आये फरियादीगण उपस्थित रहे।