श्रावस्ती: जिलाधिकारी की अध्यक्षता में विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान की समीक्षा बैठक सम्पन्न

88

16 से 31 अक्टूबर तक चलेगा दस्तक अभियान
श्रावस्ती। जिलाधिकारी कृतिका शर्मा की अध्यक्षता में 03 अक्टूबर, 2023 से चल रहे विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान तथा 16 से 31 अक्टूबर, 2023 से चलने वाले दस्तक अभियान की अन्तर्विभागीय समीक्षा बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में सम्पन्न हुई। समीक्षा के दौरान नगर पालिका परिषद भिनगा एवं नगर पंचायत इकौना की प्रगति रिपोर्ट कम पायी गई। जिस पर जिलाधिकारी ने कार्य में तेजी लाने हेतु निर्देशित किया। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने अन्य सम्बन्धित अधिकारियों को प्रगति बढ़ाने का निर्देश दिया है। जिलाधिकारी ने कहा कि जनपद के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में अभियान चलाकर स्वच्छता के प्रति सजग एवं जागरूक करते हुए विशेष सफाई रखने के लिए लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होने सभी सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिया कि नोडल विभाग द्वारा दिये गये प्रारूप पर माइक्रोप्लान बनाकर कारगर कदम उठाये जाएं, जिससे लोगों को संचारी रोगों के संक्रमण से बचाया जा सके।जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं आशाओं द्वारा घर-घर जाकर लोगों को संचारी रोग के प्रति जागरूक करेंगी तथा लक्षणयुक्त व्यक्तियों का चिन्हांकन कर उनका नाम, पता एवं मोबाइल नम्बर सहित सम्पूर्ण विवरण ई-कवच पोर्टल पर डिजिटल अपलोड करेंगी। इसके अलावा आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवं आशा द्वारा क्षयरोग के सम्भावित रोगियों की भी जानकारी प्राप्त करेंगी। कुष्ठ रोग, फाइलेरिया एवं कालाजार रोगों के प्रति भी संवेदीकरण का कार्य सम्पादित करेंगी। जिला स्तर से आयोजित कन्ट्रोलरूम से सभी सम्बन्धित विभाग को जानकारी व मानिटरिंग की जाए। उन्होने सभी सम्बन्धित विभागों को कार्ययोजना बनाकर कार्यवाही करने का निर्देश दिया है ।उन्होने यह भी निर्देश दिया कि आज 16 अक्टूबर, 2023 से दस्तक अभियान चलाया जा रहा है, जो 31 अक्टूबर, 2023 तक चलेगा। जिसके तहत घर-घर जाकर आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा साफ-सफाई, कचरा निस्तारण, जलभराव रोकने, मच्छरों से बचाव आदि के प्रति लोगों को जागरूक किया जा जाएगा। साथ ही डेंगू, फाइलेरिया, दिमागी बुखार, क्षयरोग के लक्षण एवं रोगियों को खोजकर जांच एवं उपचार हेतु सूची बनायी जाएगी, ताकि उनका ईलाज कराकर उन्हें स्वस्थ्य बनाया जा सके। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने विभागों की प्रगति रिपोर्ट बेहतर पाए जाने पर सन्तोष व्यक्त करते हुए निर्देश दिया कि इसे और बेहतर स्थिति में पहुंचाने का पूरा प्रयास करें। साथ ही उन्होंने निर्देश दिया कि विभिन्न रोगों की रोकथाम हेतु विभागों के बीच आपसी समन्वय स्थापित करते हुए एक साथ कार्यवाही की जाए। इस अभियान से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारीगण के माध्यम से जनपद में यह अभियान सफल बनाया जाएगा।
जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी एवं अधिशासी अधिकारियों को निर्देश दिया कि अभियान के दौरान जनपद के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में चलाकर स्वच्छता के प्रति सजग एवं जागरूक करते हुए विशेष विशेष सफाई रखने के लिए जागरूक किया जायेगा। उन्होने निर्देशित किया कि उथले हैण्डपम्पों को चिन्हित कर उन्हें प्रतिबन्धित किया जाए तथा जनपद वासियों को स्वच्छ पेयजल हेतु जागरूक भी किया जाए। संचारी रोग नियंत्रण अभियान के अन्तर्गत दिमागी बुखार और संचारी रोगों की रोकथाम की जायेगी। इस अभियान में स्वास्थ्य विभाग के साथ ही नगर विकास, पंचायतीराज/ग्राम विकास विभाग, पशु पालन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग, शिक्षा विभाग, दिव्यांगजन सशक्तीकरण, समाज कल्याण विभाग, कृषि एवं सिंचाई विभाग आदि कार्यक्रम से जुड़े समस्त विभाग एक साथ मिलकर संचारी रोग से बचाव हेतु कार्य करें। उन्होने निर्देश दिया कि संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार से सम्बन्धित रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जनपद, ब्लाक तथा पंचायत व ग्राम स्तरों पर विभिन्न विभागों के बीच समन्वय स्थापित कर कार्यक्रम को सफल बनायें।
इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अनुभव सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 ए0पी0 सिंह, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वी0के0 श्रीवास्तव, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 मानव, जिला स्वास्थ्य शिक्षा एवं सूचना अधिकारी अभय प्रताप, जिला मलेरिया अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी नन्दलाल, जिला कृषि अधिकारी अनिल प्रसाद मिश्र, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी अमिता सिंह, जिला कार्यक्रम अधिकारी पी0के0 दास, डब्ल्यू0एच0ओ0 के एस0एम0ओ0 डा0 सिजय जैन, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद भिनगा, डी0एम0सी0 यूनिसेफ अमित श्रीवास्तव सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारीगण सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण एवं प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहे।