बस्ती में झोपड़ी में आग लगने से महिला की मौत: सिलेंडर में विस्फोट होने से लगी आग, 19 बकरियां भी जली

227

बस्ती में आग ने बरपाया कहर, हादसे में महिला समेत 19 बकरियों की मौत, घर का सामान भी राख

बस्ती के लालगंज थाना क्षेत्र स्थित एक गांव में देर रात अज्ञात कारणों से दो रिहायसी झोपड़ी में आग लग गई। झोपड़ी में रखे गैस सिलेंडर में भी विस्फोट हो गया। जिसके चलते अंदर सो रही एक बुजुर्ग महिला और 19 बकरियों की जलकर मौत हो गई। मामला थाना क्षेत्र के पृथ्वीपुर गांव का है। यहां के रहने वाले त्रिलोकी अपनी पत्नी के साथ रोज की तरह सोमवार को खाना खा कर सो रहे थे। पड़ोस की झोपड़ी में जहां बकरियां बंधी थी उनकी 72 वर्षीय मां सो रही थी। रिहायसी झोपड़ी में आग लग गई रात लगभग दो बजे जहां वृद्धा सो रही थी, उसी रिहायसी झोपड़ी में आग लग गई। जिसे देख ग्रामीण आग बुझाने का प्रयास करने लगे। आग ने इतना विकराल रूप ले लिया कि त्रिलोकी की झोपड़ी भी उसकी जद में आ गई। बगल के पंपिंग सेट से करीब डेढ़ घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। तब तक दोनों घरों में रखा गृहस्थी के सामान के साथ, 18 हजार रुपए नगदी सहित अन्य सामान जलकर राख हो गया।

 

इलाज के दौरान हुई वृद्धा की मौत आग के चलते गंभीर रूप से झुलसी मुराती देवी को ग्रामीण एंबुलेंस के जरिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बनरहा लेकर गए। जहां डॉक्टर ने हालत गंभीर देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया। इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। मृतका के पुत्र ने बताया कि उन्होंने मां को बचाने का काफी प्रयास किया लेकिन वो सफल नहीं हुए। किसी तरह उनकी व उनकी पत्नी की जान बच गई। ग्राम प्रधान रामदौर गुप्ता की सूचना पर हल्का लेखपाल व पशु चिकित्सक मौक पर पहुंचे और क्षति का आकलन किया।




बस्ती में बीती रात आग लगने से हड़कंप मच गया. आग ने देखते-देखते घर को चपेट में ले लिया. हादसे में बुजुर्ग महिला की मौत हो गई. आग की चपेट में आने से 19 बकरियों की भी जान चली गई. ग्रामीणों ने बड़ी मुश्किल से आग पर काबू पाया. मामला लालगंज थाना क्षेत्र के पृथ्वीपुर गांव का है. आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है. मौके पर पहुंचे सदर एसडीएम गुलाब चंद ने पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया है. भीषण आग में बुजुर्ग महिला बुरी तरह झुलस गई.

महिला समेत 19 बकरियों की मौत

महिला को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया. इलाज के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया. आग में झुसली 19 बकरियों की भी मौत हो गई. बताया जा रहा है कि बकरियों को खोलने के चक्कर में महिला आग से घिर गई. ग्रामीण आनन फानन में एम्बुलेंस की सहायता से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बनहरा कुदरहा लेकर पहुंचे. बुरी तरह झुलसी महिला को डॉक्टरों ने जिला अस्पताल बस्ती रेफर कर दिया. जिला अस्पताल में बुजुर्ग महिला को बचाया नहीं जा सका. मृत महिला की शिनाख्त 72 वर्षीय मुरता देवी के रूप में हुई है.




घर में आग लगने का कारण अज्ञात

महिला को आग लगने का पता विकराल रूप धारण करने के बाद चला. घर में करीब 22 बकरियां बंधी थीं. बकरियों को खोलने के दौरान महिला आग की चपेट में आ गई. तीन बकरियां भी बुरी तरह झुलस गई हैं. महिला की शोर सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे. बड़ी मशक्कत से भीषण आग पर काबू पाया गया. महिला के बेटे त्रिलोकीनाथ ने बताया कि रात करीब दो बजे अचानक आग लगी. हादसे में घर का सामान जलकर राख हो गया.





घर में कुल 22 बकरियां भी थीं. मां बकरियों को बचाने में झुलस गई. इलाज के दौरान मां को बचाया नहीं जा सका. सदर एसडीएम गुलाब चंद ने मौके पर पहुंचकर मुआयना किया. उन्होंने बताया कि बीती रात आग लगने की घटना हुई है. आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है. मौके पर राजस्व टीम पीड़ित परिवार की मदद कर रही है. नियमानुसार मुआवजा परिवार को दिया जायेगा

विज्ञापन बॉक्स