आज पीएम मोदी करेंगे शिरडी साईं बाबा के दर्शन, मंदिर के रहस्य जानकर उड़ जाएंगे होश!

233

PM Modi Shirdi Visit: प्रधानमंत्री मोदी आज शिरडी साईं मंदिर में दर्शन और पूजन करेंगे। आइए जानते हैं साईं बारे से जुड़े इस रहस्यमयी मंदिर के बारे में खास बातें।

PM Modi Shirdi Visit: विश्व विख्यात शिरडी साईं बाबा का प्रसिद्ध मंदिर महाराष्ट्र में स्थित है। यहां अपनी मनोकामना लेकर देश-विदेश से लोग पहुंचते हैं। मान्यता है कि जो कोई यहां श्रद्धापूर्वक दर्शन करते हैं, उनकी हर मनोकामना पूरी होती है। आज यानी 26 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी दोपहर करीब 1 बजे शिरडी के साईं मंदिर में दर्शन-पूजन करेंगे। धार्मिक मान्यता है कि शिरडी के इस साईं मंदिर में हर साल लाखों भक्त दर्शन के लिए पहुंचते हैं। यह मंदिर साईं बाबा के जीवन से जुड़े तमाम चमत्कारों के लिए प्रसिद्ध है। हालांकि आज भी अधिकांश लोग इस मंदिर से जुड़ी चमत्कारिक घटनाओं से अनजान हैं। आइए जानते हैं शिरडी साईं मंदिर के रहस्यों के बारे में।

शिरडी साईं बाबा से जुड़ी ये घटना कर देगी हैरान

शिरडी वाले साईं बाबा जरूरतमंदो की सेवा करने वाले एक महीसा के रूप में विश्व विख्यात हैं। साईं बाबा से जुड़ी एक घटना आपको भी हैरान कर सकती है। प्रचलित कथा के अनुसार, कहते हैं कि साईं बाबा की कृपा से बड़ी-बड़ी बीमारी दूर हो जाती है। यही वजह है कि लोग दूर-दूर से उनके दर्शन के लिए आया करते थे। इस क्रम में एक श्रद्धालु साईं बाबा के दर्शन को आया तो उसने एक तस्वीर खींचने की कोशिश की। कहते हैं कि जब उस भक्त ने साईं बाबा की तस्वीर ली और जब बाद में उसने तस्वीर को देखी तो उसके होश उड़े गए! दरअसल उस भक्त ने साईं बाबा की तस्वीर देखी तो उसमें साईं बाबा के पूरे शरीर के बजाए सिर्फ उनके चरण ही आए।




नीम के पत्ते भी हो जाते हैं मीठे

कहा जाता है कि साईं बाबा के जीवन का अधिकांश समय शिरडी में व्यतीत किया। कहते हैं कि जब भी वे शिरडी आते थे तो अधिकांश समय नीम के पेड़ की छांव में बिताया करते थे। जिसे अब गुरु स्थान के नाम से पुकारा जाता है। इस नीम के पेड़ की खास बात ये है कि इसकी पत्तियां मीठी हैं, जबकि नीम अपनी करवाहट से लिए मशहूर है। अगर आपको भी शिरडी साईं के दर्शन का सौभाग्य प्राप्त हो तो उस पेड़े की गिरी हुईं पत्तियां चखें। मान्यता है कि जिन्हें भी इस नीम की पत्तियों को चखने का अवसर मिलता है, वह हमेशा स्वस्थ रहता है। उसे किसी प्रकार की बीमारी नहीं होती।