UP: वाहन चेकिंग के दौरान पिटे ट्रैफिक इंस्पेक्टर का छलका दर्द, कहा- मुझे नहीं पता था इतनी नपुंसक है अलीगढ़ पुलिस

346

उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ (Aligarh) जनपद में मारपीट एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि वीडियो पुलिस और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच झगड़े का है। वीडियो में देखा जा सकता है कि भाजपा कार्यकर्ता एसआई से हाथापाई करते नजर आ रहे हैं, जबकि गाड़ी के भीतर बैठे ट्रैफिक इंस्पेक्टर (Traffic Inspector) को बाहर निकालने की कोशिश की जा रही है। इस बीच अन्य पुलिसकर्मी एसआई को बचाने के लिए कार्यकर्ताओं से भिड़ते नजर आ रहे हैं।

आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जा रहा- ट्रैफिक एसपी

इस मामले में ट्रैफिक इंस्पेक्टर कमलेश यादव ने मीडिया को बताया पुलिस पीआरओ की तरफ से निर्देश मिला था की एक गाड़ी संदिग्ध है, जिसे चेक करने का निर्देश दिया गया था। उन्होंने बन्ना देवी थाना क्षेत्र के मालवीय पुस्तकालय के सामने जीटी रोड पर गाड़ी को रोक लिया, जिसके बाद तथाकथित पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उन पर हमला बोल दिया।ट्रैफिक इंस्पेक्टर ने बताया कि एसएचओ और सीओ की मौजूदगी में पीटा गया और कपड़े तक फाड़ दिए गए।

घायल ट्रैफिक इंस्पेक्टर कमलेश यादव का कहना है कि जब तक मेरी नौकरी रहेगी तब तक मैं याद रखूंगा कि इंस्पेक्टर और सीओ के सामने मेरी हालत हुई है। मुझ पर झूठे इल्जाम लगाए जा रहे हैं कि मैंने शराब पी। लेकिन मैं आज तक शराब की एक बूंद नहीं पी। ये मेरी हालत की गई इन लोगों की मौजूदगी में, मुझे नहीं पता था कि इतनी नपुंसक पुलिस है अलीगढ़ की। मेरे साथ मारपीट की गई मेरे कपड़े फाड़े मेरे खून निकल आया है मैं यहां पर सरकारी काम से आया था। तभी एक संदिग्ध गाड़ी को मौके पर पहुंच कर चेकिंग किए जाने को लेकर एसएसपी के पीआरओ का फोन उसके पास पहुंचा था।

Also Read: कासगंज: नेकर-टीशर्ट में चौकी पर बैठना, महिलाओं से अभ्रदता व रिश्वत लेना दारोगा को पड़ा भारी, SP ने की बड़ी कार्रवाई

ट्रैफिक इंस्पेक्टर पर गाड़ी से टक्कर मारकर गाड़ी रोकन का आरोप

वहीं, ट्रैफिक इंस्पेक्टर कमलेश कुमार पर गाड़ी से टक्कर मारकर भाजपा कार्यकर्ता की गाड़ी को चेकिंग के लिए रोकने का आरोप लगाया है। विवाद के बाद भाजपाईयों के द्वारा एनएच 91 पर जाम लगाकर हंगामा किया गया। मारपीट की घटना को एक दिन पहले हुए किसी विवाद से जोड़कर देखा जा रहा है।

अलीगढ़ पुलिस ने ट्वीट कर कही ये बात

वायरल वीडियो पर अलीगढ़ पुलिस ने एक्स पर ट्विट कर कहा कि गतरात्रि गाड़ी टच होने का आरोप लगाकर मौके पर जमावड़ा हुआ था, सूचना पर तत्काल अधिकारियों द्वारा वार्ता कर कुछ ही मिनट में सबको अपने घर भेज दिया गया, मौके पर पूर्ण शांति है, उपरोक्त दोनों हमलावर व्यक्ति के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर वैधानिक कार्यवाही प्रचलित की गई, यातायात सुचारु है।

उधर, इस मामले में एसपी ट्रैफिक मुकेश चंद्र उत्तम ने बताया कि यातायात निरीक्षक द्वारा मोडिफाईड साइलेंसर की बाइक के विरूद्ध वैधानिक कार्रवाई किए जाने के दौरान कुछ व्यक्तियों द्वारा पुलिसकर्मी से दुर्व्यवहार किया गया। मामले में वीडियो फुटेज के आधार पर दो व्यक्तियों के खिलाफ नामजद और अन्य अज्ञात पर सुसंगत धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर वैधानिक कार्यवाही प्रचलित की गई है। पुलिसकर्मियों के शराब के नशे में होने के आरोप पर मेडिकल कराया गया, कोई भी पुलिसकर्मी नशे में नहीं पाया गया। नशे में रहने का आरोप निराधार साबित हुआ है।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

विज्ञापन बॉक्स