प्रयागराज: माफिया अतीक अहमद के फाइनेंसर नफीस बिरयानी की हार्ट अटैक से मौत, उमेश पाल हत्याकांड में था आरोपी

147

माफिया अतीक अहमद (Atique Ahmed) के फाइनेंसर नफीस बिरयानी (Nafees Biryani) की प्रयागराज जनपद के स्वरूप रानी अस्पताल में इलाज के दौरान सोमवार की सुबह मौत (Death) हो गई है। रविवार की दोपहर नैनी सेंट्रल जेल में नफीस बिरयानी को दिल का दौरा (Heart Attack) पड़ा था। इसके बाद उसे स्वरूप रानी अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसका इलाज चल रहा है। अब पुलिस की ओर से पोस्टमार्टम कराने की तैयारी चल रही है।

खुल्दाबाद निवासी नफीस बिरयानी सिविल लाइन में ईट ऑन रेस्टोरेंट का संचालक था। उमेश पाल हत्याकांड के बाद से फरार नफीस पर 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया था। 22 नवंबर को नवाबगंज के पास पुलिस मुठभेड़ में उसके पैर में गोली लगने के बाद उसे अस्पताल लाया गया था। इसके बाद हालत में सुधार होने पर नौ दिसंबर को उसे नैनी सेंट्रल जेल में दाखिल किया गया था।

Also Read: AMU के 2 छात्रों पर UP ATS ने रखा 25-25 हजार ईनाम, आतंकी संगठन ISIS से जुड़ा है मामला

माफिया अशरफ के करीबी नफीस बिरयानी की क्रेटा कार का उमेश पाल हत्याकांड में इस्तेमाल हुआ था। इसके बाद से ही वह फरार चल रहा था। नफीस ने बिरयानी कारोबार को अशरफ की काली कमाई लगाकर आगे बढ़ाया था। कारोबार की आड़ में वह माफिया की काली कमाई को सफेद करने का काम करता था।

बताया जा रहा है कि रविवार को सांस लेने में दिक्कत होने पर उसे आनन-फानन जेल अस्पताल ले जाया गया। वरिष्ठ जेल अधीक्षक रंग बहादुर सिंह पटेल ने बताया कि जेल चिकित्सकों की सलाह पर उसे एसआरएन अस्पताल के हृदय रोग विभाग के आईसीयू में रखा गया था, यहां उसकी हालत नाजुक बनी थी। इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया।

Also Read: योगी सरकार की प्रभावी पैरवी से मुख्तार अंसारी को लगा फिर बड़ा झटका, अब एक नए मामले में साढ़े पांच साल की सजा

दिल का दौरा पड़ने के बाद स्वरूप रानी नेहरू चिकित्सालय के हृदय रोग विभाग के आईसीयू में भर्ती कराए गए नफीस का ब्लड प्रेशर काफी कम मिला था। साथ ही पल्स रेट भी गिरा हुआ था। किडनी में इन्फेक्शन फैलने से उसे दिक्कतें बढ़ गई थीं।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )