लखनऊ: पुलिस भर्ती बोर्ड में तैनात महिला सिपाही ने की आत्महत्या, सामने आया फेसबुक फ्रेंड का चौंकाने वाल एंगल

430

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ (Lucknow) में महिला सिपाही आंशी तिवारी (Female Constable Anshi Tiwari) ने फांसी (Suicide) लगा ली है। मृतका के परिजनों ने एक युवक पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। इस मामले में अभी तक कोई केस दर्ज नहीं किया गया है।

महिला सिपाही की हुसैनगंज स्थित पुलिस भर्ती बोर्ड में थी तैनाती

मिली जानकारी के अनुसार, उन्नाव के गांधीनगर की रहने वाली 27 वर्षीय आंशी तिवारी यूपी पुलिस में 2019 बैच की सिपाही थीं और मौजूदा समय में हुसैनगंज स्थित पुलिस भर्ती बोर्ड में तैनात थीं। वो कैंट सदर के सुभाष मोहाल में किराए पर रहती थीं।

Also Read: गोरखपुर: इस खूबसूरत महिला IPS को मिली सीओ कोतवाली की कमान, इंस्टाग्राम पर हैं 257K फॉलोअर्स

मृतका के भाई प्रशांत तिवारी ने बताया कि मंगलवार रात 11.50 पर बहन के इटावा निवासी दोस्त का मैसेज आया कि उसका आंशी से झगड़ा हुआ है और अब वो फोन नहीं उठा रही। इस पर आंशी के परिजन उसको फोन किया तो फोन नहीं उठा। बुधवार की सुबह आंशी के जीजा आलमबाग आर्दशनगर निवासी आशुतोष मिश्र ने आंशी को कई बार कॉल की पर आंशी ने फोन नहीं उठाया।

पंखे में पर्दे के सहारे लटका मिला शव

इस पर आशुतोष मिश्र उनके किराए के मकान पहुंचे तो कमरा अंदर से बंद था। आवाज लगाने पर भी कोई जवाब नहीं मिला। खिड़की से झांक कर देखा तो आंशी का शव पंखे में पर्दे के सहारे लटकता मिला। उन्होंने कमरे का दरवाजा तोड़ा और सूचना परिजनों और पुलिस को दी। कुछ ही देर में कैंट पुलिस मौके पर पहुंच गई। खबर पाकर उन्नाव से परिजन भी आ गए।

Also Read: UP: मेरठ और गोरखपुर जोन के ADG समेत करीब 2 दर्जन IPS अफसरों का तबादला करने की तैयारी

पुलिस ने छानबीन के लिए फॉरेंसिक टीम को भी बुलाया। छानबीन के बाद पुलिस ने आंशी के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस का दावा है कि आंशी ने फांसी लगाई, पर आत्महत्या के कारण का पता नहीं चल सका है। पुलिस ने आंशी के मोबाइल फोन को जांच के लिए अपने कब्जे में ले लिया है। आंशी के परिवार में पिता अंजनी तिवारी, मां सुषमा, भाई प्रशांत और एक बहन हैं।

पांच साल पहले फेसबुक पर युवक से हुई थी दोस्ती

मृतका के भाई का कहना है कि करीब पांच साल पहले आंशी की फेसबुक पर इटावा के रहने वाले एक युवक से दोस्ती हुई थी। इसके बाद दोनों करीब आ गए। कुछ दिन पहले आंशी को युवक के कुछ लड़कियों से संबंध के बारे में पता चला तो दोनों के बीच विवाद होने लगा।

Also Read: लखनऊ में तैनात RPF के डीआईजी संतोष कुमार दुबे को बड़ी राहत, हाईकोर्ट ने VRS पर लगाई रोक, ये है पूरा मामला

परिजनों ने युवक पर आंशी को मानसिक और आर्थिक रूप से परेशान करने का आरोप लगाया है। इस संबंध में एडीसीपी पूर्वी अली अब्बास का कहना है कि परिजनों ने कोई तहरीर नहीं दी है। तहरीर मिलने पर केस दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

विज्ञापन बॉक्स