अयोध्या: बाबरी केस के पक्षकार इकबाल अंसारी को मिला रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम का निमंत्रण

148

इकबाल अंसारी ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा कि हम सबको सलाह देते हैं कि अयोध्या ऐसी धरती है, जहां पर हिंदू-मुस्लिम, सिख और ईसाई का भाईचारा बना हुआ है और आगे भी बना रहेगा। 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने जो फैसला किया, उसका देशभर के मुस्लिम ने सम्मान किया और कहीं भी धरना-प्रदर्शन नहीं हुआ। आज हिंदू-मुस्लिमों में कोई दरार नहीं है। मंदिर का काम पूरा हो चुका है और भगवान राम वहां विराजमान हो रहे हैं। अयोध्यावासी भी खुश हैं और हम भी खुश हैं।

Also Read: सुभासपा चीफ ओपी राजभर ने अमित शाह से की मुलाकात, लोकसभा चुनाव की तैयारियों सहित कई मुद्दों पर की चर्चा

बता दें कि इससे पहले 30 दिसंबर को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अयोध्या दौरे पर आए थे और उन्होंने वहां रोड शो किया था, तो इकबाल अंसारी को पीएम मोदी पर फूल बरसाते हुए देखा गया था। मीडिया से बातचीत के दौरान इकबाल अंसारी ने कहा कि आयोध्या आने वाला कोई भी व्यक्ति हमारा मेहमान है। उनका अभिनंदन करना हमारा धर्म और परंपरा है। उन्होंने कहा कि हमारे देश के प्रधानमंत्री अयोध्या आए और उनके स्वागत में मैंने फूल बरसाए।

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी देश के सभी लोगों के प्रधानमंत्री है और उनके नेतृत्व में अयोध्या में काफी विकास हुआ है। अयोध्या में पहले एक छोटा सा रेलवे स्टेशन हुआ करता था, लेकिन अब भव्य स्टेशन बन गया है। इसके अलावा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण भी हुआ है। बता दें कि पीएम मोदी ने 30 दिसंबर को अयोध्या धाम जंक्शन रेलवे स्टेशन और महर्षि वाल्मिकि इंटरनेशनल एयरपोर्ट का लोकार्पण किया था। अब वह 22 जनवरी को रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होने के लिए मुख्य यजमान के रूप में अयोध्या आएंगे।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

विज्ञापन बॉक्स