पश्चिमी UP को धमाकों से दहलाने की थी साजिश, इमराना के ऑर्डर पर तैयार किए थे बम, गिरफ्तार जावेद ने किए चौंकाने वाले खुलासे

86

बोतल बम के जरिए लोकसभा चुनाव के आसपास राजधानी दिल्ली और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के अलग-अलग इलाकों को दहलाने की साजिश रची गई थी। एसटीएफ की पूछताछ में आरोपी जावेद (Accused Javed) में कई बड़े खुलासे किए हैं। जावेद ने बताया कि इमराना (Imrana) के ऑर्डर पर ही उसने ये बम तैयार किए थे। दिल्ली के किसी शख्स ने इमराना को बम (Bomb) तैयार कराने का ऑर्डर दिया था। अब पुलिस इन तथ्यों की पुष्टि करने में जुटी है। इसके साथ ही इमराना की गिरफ्तारी के प्रयास भी किए जा रहे हैं।

इमराना को 20 साल से जानता है जावेद का परिवार

आरोपी जावेद ने यह भी बताया कि ऑनलाइन डिमांड पर अक्सर बम बनाता था। शातिर इमराना तंत्र-मंत्र की क्रियाएं भी करती थी। जावेद का परिवार भी इमराना को पिछले लगभग बीस वर्ष से जानता है जिस कारण जावेद का भी उसके पास आना-जाना लगा रहता था। जानकारी के अनुसार, इमराना के संपर्क में रहने वाला जावेद करीब पचास लाख रुपये की कीमत वाला प्लॉट खरीदने के प्रयास में जुटा था। हाल ही में उसने एक दो प्लाट देखे भी थे।

Also Read: लखनऊ: फर्जी IAS बन महिला सिपाही को फंसाया, तमंचा दिखाकर रेप और हड़पी सैलरी, फिर धमकी देकर रचाई शादी

आशंका जताई जा रही थी कि दोनों प्लॉट में निर्माण कराकर बम बनाने का सुरक्षित ठिकाना बनाना चाहते थे। इमराना पत्नी आजाद ग्राम बंतीखेड़ा, थाना बाबरी, शामली की रहने वाली है। उसका वर्तमान पता 198/30 काली नदी के पास प्रेमपुरी, थाना कोतवाली मुजफ्फरनगर है। इमराना ने ही जावेद को बम बनाने का आर्डर दिया था।

एसटीएफ को बम लेकर जाने की मिली थी सूचना

एसपी एसटीएफ बृजेश कुमार सिंह ने बताया कि जावेद के खिलाफ मुजफ्फरनगर के कोतवाली थाने में आईपीसी की धारा 286 व 4/5 विस्फोटक पदार्थ अधिनियम के अंतर्गत रिपोर्ट दर्ज कराकर पुलिस को सुपुर्द कर दिया गया है। मुजफ्फरनगर कोतवाली पुलिस अग्रिम कार्रवाई कर रही है। एसटीएफ को जावेद के बम लेकर जाने की सूचना गुरुवार शाम को मिली थी। देर रात टीम शहर में पहुंच गई थी। जावेद को रात में आना था, लेकिन वह नहीं आया। टीम ने बराबर निगरानी बनाए रखी और शुक्रवार सुबह आखिरकार जावेद को बमों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया।

बेहद खतरनाक थे जावेद द्वारा बनाए गए बम

वहीं, बम निरोधक दल के अनुसार, जावेद द्वारा बनाए गए टाइमर बोतल बम की मारक क्षमता तीन सौ मीटर रेडियस बताई गई। बम इतने मारक थे कि विस्फोट से जमीन में ढाई मीटर तक गड्ढा हो सकता था। कांच की बोतल में टाइमर बम को देखकर खुफिया एजेंसियां भी सकते हैं। वह यह पता करने में जुटी हैं कि इससे पहले जावेद ने किस-किस को बोतल में टाइमर बम बना कर दिए हैं।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )