क्या कानपुर में तैनात इन इंस्पेक्टर साहब के ‘आशीर्वाद’ से होटल में चल रहा था IPL सट्टा, हुए लाइन हाजिर

133

उत्तर प्रदेश के कानपुर में पुलिस की संरक्षण में आईपीएल सट्टे का मामला सामने आया है. शहर के माल रोड के एक होटल में क्राइम ब्रांच की टीम ने सटोरियों को लाखों रुपयों के साथ गिरफ्तार किया था. इस मामले में थाना हरबंस महल के इंस्पेक्टर विनीत चौधरी की संलिप्तता होने की आशंका पर उन्हें लाइन हाजिर किया गया है.

खुलासा क्राइम ब्रांच ने किया था

कानपुर पुलिस पर अपराधियों को संरक्षण देने के आरोप इससे पहले भी लगते रहे हैं. एक अन्य मामले में चमनगंज थाने के थाना प्रभारी पर बहस के दौरान एक गैंगस्टर को भगा देने का आरोप लगा था. इन दोनों मामलों का खुलासा क्राइम ब्रांच ने किया था. अब ताजा मामले में कानपुर के हरबंस मॉल में आईपीएल का सट्टा पुलिस की संरक्षण में होने की आशंका जताई जा रही है . क्राइम ब्रांच ने इसकी जानकारी कानपुर कमिश्नर अखिल कुमार को दी. उन्होंने थाना हरबंस महल के इंस्पेक्टर विनीत चौधरी को लाइन हाजिर कर दिया.

पुलिस के उच्च अधिकारियों से की

13 अप्रैल को क्राइम ब्रांच की टीम ने थाना हरबंस मॉल क्षेत्र के मेफेयर इन होटल में आईपीएल का ऑनलाइन सट्टा खिलवाने वाले गिरोह को पकड़ा था. क्राइम ब्रांच की टीम ने मौके से तीन लोगों को लाखों रुपयों की नगदी के साथ गिरफ्तार किया था. क्राइम ब्रांच की टीम को इस मामले में लोकल थाना पुलिस की संदिग्ध भूमिका नजर आई. इसकी शिकायत क्राइम ब्रांच ने पुलिस के उच्च अधिकारियों से की. जिस पर कानपुर कमिश्नर ने एसीपी मोहम्मद मोहसिन खान की रिपोर्ट पर इंस्पेक्टर हरबंस महल को लाइन हाजिर कर दिया. उनकी जगह अब विक्रम सिंह को नया थाना इंचार्ज बनाया गया है. लाइन हाजिर की इस कार्रवाई से कुछ दिन पहले 16 अप्रैल को एक गैंगस्टर को चमनगंज थाने के थाना प्रभारी पर क्राइम ब्रांच से बहस के दौरान भगा देने का आरोप लगा था. इस मामले की जांच उच्च अधिकारियों के आदेश पर जारी है. दोनों ही मामलों में क्राइम ब्रांच की मुख्य भूमिका गुड वर्क में रही है.

क्या था मामला

16 अप्रैल को गैंगस्टर मामले में वांछित शाहिद पिच्चा एक शादी में शामिल होने के लिए चमनगंज आया था. इसकी जानकारी क्राइम ब्रांच को मिली. टीम ने उसे दबोचने का जाल बिछाया था. इस बीच चमनगंज थाना प्रभारी और क्राइम ब्रांच टीम के बीच विवाद हो गया जिसका फायदा उठाकर शाहिद मौके से भाग निकला. क्राइम ब्रांच ने इंस्पेक्टर चमनगंज के खिलाफ उनकी संदिग्ध भूमिका की भी शिकायत अधिकारियों से की है. जॉइंट पुलिस कमिश्नर हरिश्चंद्र ने चमनगंज थाना प्रभारी की संदिग्ध भूमिका पर जांच बैठा दी है.