बरेली: इकरा ने इस्लाम छोड़ अपनाया सनातन धर्म, प्रीति बन आकाश संग रचाई शादी, बोली- तीन तलाक और हलाला जैसी कुरीतियों से नफरत

602

उत्तर प्रदेश के बरेली जनपद (Bareilly) में शुक्रवार को अगस्त्य मुनि आश्रम में शुद्धिकरण के बाद मुस्लिम युवती इकरा (Iqra) से प्रीति बन गई और अपने प्रेमी आकाश के साथ हिंदू रीति-रिवाज से शादी कर ली। प्यार की खातिर दोनों ने अपने घर भी छोड़ दिए हैं।

सूत्रों ने बताया कि रामपुर के टांडा निवासी आकाश और सिरौली निवासी इकरा के बीच पांच साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। आकाश 9वीं पास है और इकरा उर्फ प्रीति ने पांचवीं तक की पढ़ाई की है। आकाश ने बताया कि वह इकरा के गांव के पास मैच खेलने जाता था। इसी दौरान दोनों के बीच जान-पहचान और फिर बातचीत शुरू हो गई।

Also Read: सीतापुर: शीबा ने राधिका बन प्रेमी रामू से किया विवाह, कहा- हिंदू लड़कों से शादी करें मुस्लिम लड़कियां, इज्जत-सम्मान से बिताएं जीवन

इसके बाद दोनों ने शादी करने का फैसला किया और 2021 में दोनों घर छोड़कर भाग निकले। उस वक्त दोनों नाबालिग थे, जिसकी वजह से इकरा के घरवालों ने आकाश के खिलाफ सिरौली थाने में रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस ने आकाश को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और इकरा को आर्य समाज अनाथालय में रहना पड़ा।

 

इसके बाद आकाश को जमानत मिल गई और इकरा भी घर पहुंच गई। वहीं, जब दोनों बालिग हो गए तो दोबारा घर छोड़ दिया। इस बीच शुक्रवार को दोनों अगस्त्य मुनि आश्रम पहुंचे और वहां पर पंडित केके शंखधार ने इकरा का शुद्धिकरण कराकर उनके विवाह की रस्में पूरी कराईं।

Also Read: बरेली: मुस्लिम युवती ‘सबा’ ने इस्लाम छोड़ अपनाया हिंदू धर्म, प्रेमी संग शादी रचाकर बनी ‘सोनी’

इसके बाद इकरा ने हिंदू धर्म अपनाकर अपना नाम प्रीति रख लिया। इकरा ने कहा कि उसे तीन तलाक, हलाला जैसी खराब प्रथाओं से नफरत थी। यही वजह है कि उसने आकाश से शादी कर हिंदू धर्म स्वीकार किया है।

बरेली के सिरौली की रहने वाली इकरा बी ने मुस्लिम से हिंदू धर्म अपना लिया है। इकरा ने रामपुर के रहने वाले आकाश के साथ मंदिर में सात फेरे लिए, और हिंदू रीति रिवाज के साथ शादी कर ली। 2021 में जब इकरा नाबालिग थी तो अपने प्रेमी आकाश के साथ घर से चली गई थी। इसके बाद पिता ने सिरौली थाने में अपहरण का केस दर्ज कराया। इकरा ने कहा कि अब मुझे प्रीति के नाम से ही जाना जाए।

प्रेमी की खातिर इकरा को अनाथालय/ बालिका संप्रेषण गृह में रहना पड़ा। प्रेमी आकाश को जेल जाना पड़ा। अब बालिग होने के बाद इकरा ने कहा कि मैं स्वतंत्र हूं, और अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन कर शादी कर रही हूं।

वॉलीबॉल मैच के दौरान हुई थी दोस्ती
प्रीति उर्फ इकरा ने बताया कि 2019 में आकाश बरेली में सिरौली के पास वॉलीबॉल मैच खेलने आया था। वह भी पास में काम करने जाती थी। तभी आकाश ने अपना मोबाइल नंबर लिखकर इकरा को दिया, और उसके बाद लगातार कॉल करके उसका हाल-चाल जानता रहा। इसके बाद दोनों में दोस्ती परवान चढ़ने लगी, और चोरी छुपी दोनों मिलते रहे।
प्रीति ने बताया कि 2021 में जब वह नाबालिग थी तो अपने प्रेमी आकाश के साथ घर से चली गई। पहले दोनों रामपुर के होटल में रहे। और उसके बाद नैनीताल घूमने चले गए। 15 दिन अपने प्रेमी के साथ रही, लेकिन पिता ने आकाश पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कर दिया। पुलिस ने जब बरामद किया तो उम्र 18 साल से कम थी, और कोर्ट में बयान कराए। प्रीति उर्फ इकरा ने बताया कि मैं परिवार के डर के मारे अपने घर नहीं जाना चाहती थी। इसलिए मैंने अनाथालय में रहकर समय गुजारा और पुलिस ने आकाश को जेल भी दिया। आकाश चार महीने तक जेल में रहा।

आकाश के खातिर धर्म बदल हिंदू ही रहूंगी

मुस्लिम से हिंदू बनने वाली इकरा ने बरेली के अगस्त मुनि आश्रम में हिंदू रीति रिवाज से शादी की। पंडित केके शंखधार ने पहले दोनों का गंगाजल से शुद्धिकरण किया। उसके बाद गौमूत्र पिलाया और उसके बाद मंत्र उच्चारण के बाद दोनों की हिंदू रीति रिवाज से शादी कराई।

युवती ने कहा कि अब मैं आजीवन हिंदू बनकर ही रहूंगी। परिवार मुझे जान की धमकी दे रहा है, और मेरे घर वाले मुझे मार भी सकते हैं। मुझे लंबा समय अनाथालय में रहकर काटना पड़ा और मेरे प्रेमी को जेल जाना पड़ा। लेकिन अब बालिग हूं और अपनी मर्जी से धर्म परिवर्तन कर शादी करने के लिए स्वतंत्र हु। मुझे तीन तलाक, हलाला सुनकर बहुत नफरत होती है और इसलिए मैं भगवान कृष्ण को मानती हूं।


दुनिया प्रदेश की ताजा तरीन खबरें और रोचक जानकारीयों के लिए जुडिए हमारे व्हाट्सएप ग्रुप से..लेटेस्ट ब्रेकिंग न्यूज अपने व्हाट्सएप पर पायें…

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )