श्रावस्ती: नसबंदी कराने के बाद महिला ने दिया बच्चे जन्म..इलाज के दौरान हुई नवजात की मौत, अस्पताल में की थी शिकायत

292

श्रावस्ती में नसबंदी कराने के डेढ़ साल से अधिक समय के बाद एक महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया है। वहीं करीब 5 घंटे के बाद बच्चे की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। अब ऐसे में परिवार का कहना है कि उन्होंने महिला के प्रेग्नेंट होने को लेकर अस्पताल में शिकायत भी की थी। वही अब इस मामले में जिम्मेदार प्रपत्रों की जांच के आधार पर आगे की कार्रवाई करने की बात कह रहे हैं।

यह भी पढ़ेंः एक बार कटहल लगाकर सालों कमा सकते हैं किसान भाई, जानें कैसे करते हैं इसकी खेती
श्रावस्ती जनपद के इकौना थाना क्षेत्र के मटखनवा गांव की सुशीला पत्नी राम पूरन ने जनवरी 2022 में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र इकौना में नसबंदी कराया था। लेकिन करीब 9 महीने के बाद वह प्रेग्नेंट हो गई। वही सुशीला के परिजनों के अनुसार 3 महीने का गर्भ होने पर उन्हें जानकारी हुई।

वही वहीं पति का आरोप है कि मामले में अस्पताल के स्वास्थ्य कर्मी को इसकी जानकारी भी दी गई थी। लेकिन मुआवजा दिलाने की बात कह कर उन्हें टाल दिया गया था वही आखिरकार महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया।जिसकी हालत बिगड़ने के बाद कुछ ही समय में अस्पताल में उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई।

यह भी पढ़ेंः जैविक खेती: केंचुआ खाद बेचकर किसान बना लखपति, इस तरह बढ़ाई अपनी आय

बताते चले की इस पूरे मामले को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के अधीक्षक डॉ राहुल यादव का कहना है कि मामले में जानकारी कर जो भी होगा उस हिसाब से आगे की कार्रवाई की जाएगी।वहीं जांच पड़ताल के बाद मुआवजे की प्रक्रिया भी नियमानुसार की जाएगी। यदि नियम के मुताबिक प्रपत्र सही पाए गए तो मुआवजे की कार्रवाई की जाती है।